नौगढ़ इलाके के चकरघट्टा थाना क्षेत्र के अंतर्गत होरिला गांव का पुलिस अधीक्षक चंदौली हेमंत कुटियाल के द्वारा किया गया निरीक्षण करते हुए लोगों की हर एक बात ध्यान से सुनी और उसके निस्तारण के लिए आवश्यक आदेश व निर्देश दिए।

 

लोगों ने कहा कि नक्सल इलाके के मंगरही गांव के पास से जाने वाले मार्ग को बिल्कुल खराब पड़ा है, जिस मार्ग पर चलने के बाद पुलिस अधीक्षक चंदौली द्वारा कहा गया कि यह मार्ग जल्द से जल्द ठीक करा दिया जाएगा।

 

एसपी ने इसका निर्देश नक्सल क्षेत्राधिकारी जगत राम कनौजिया को देते हुए कहा कि इस मार्ग को आप जल्द से जल्द ठीक कराने की कोशिश करें।

 

इस संबंध में वन रेंजर से बात करके बोला गया कि अगर कोई दिक्कत नहीं है आप इस मार्ग को बनवा सकते हैं। यह मार्ग बिल्कुल पगडंडी का है, जिस पर बरसात के दिनों में चलना मुश्किल होता है।

 

होरिला गांव के एक व्यक्ति द्वारा बताया गया कि आप देख सकते हैं कि हमारे गांव से बहुत दूर नौगढ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र है। वहां हम लोगों को आने जाने में काफी दिक्कत होती है। जैसे कोई अगर बीमार हो जाता है तो उसे लेकर जाने के लिए कोई साधन नहीं है। अगर हम लोग उसे लेकर जाते हैं तो उसे चारपाई पर लेटा कर चार लोग अपने कंधे पर उठाकर के उसे लेकर जाते हैं। अगर वह अधमरा पड़ा रहता है तो उसे लेकर जाते जाते उसकी मृत्यु हो जाती है, जिसकी बात सुनकर के पुलिस अधीक्षक द्वारा कहा गया कि आपको नौगढ़ थाने में चकरघटा थाना में एक गाड़ी अवेलेबल करा दी जा रही है आपके गांव का कोई भी व्यक्ति अगर बीमार होता है तो उसे आप हमारे थाने से गाड़ी बुला करके लेकर स्वास्थ्य केंद्र जा सकते हैं और उसका उपचार करा सकते हैं।

 

वही आयरन पानी में देखकर उन्होंने कहा कि आपके यहां सोलर पंप टंकी की व्यवस्था के लिए शासन से हम बात करेंगे और आप लोगों को मुहैया कराने की कोशिश करेंगे। इन सारी समस्याओं को लेकर के पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल ने कहा कि आपके गांव में कोई और अधिकारी नहीं आया था तो सभी ग्रामीणों द्वारा जवाब मिला कि सर आप आज पहली बार हमारे यहां आए हैं और आप के पद के जैसा कोई और नहीं आया है ना ही कोई नेता आया है। अभी तक  ना ही कभी हमारे जिलाधिकारी महोदय का आगमन हुआ है। हमारे इस ग्राम पंचायत में 3 गांव हैं जो गोरिल्ला, सेमरसाधोपुर, धोबही यही तीनों गांव हैं जिसमें अभी तक कोई भी उच्च अधिकारी का आगमन नहीं हुआ है। अगर एक बार आगमन हो जाता तो लोगों की स्थिति शायद थोड़ी बन जाती।

 

प्रमुख रूप से उपस्थित तहसीलदार आनंद कुमार कनौजिया, नक्सल क्षेत्राधिकारी जगत राम कनौजिया, चकरघटा थाना प्रभारी रमेश प्रसाद तथा सीआरपीएफ इंस्पेक्टर बीके सिंह तथा एलआईयू अनित सिंह उपस्थित रहे।