पति की इस करतूत के लिए मिली 10 साल के कठोर कारावास की सजा

पति की इस करतूत के लिए मिली 10 साल के कठोर कारावास की सजा

चंदौली। जिले के जनपद एवं सत्र न्यायाधीश दिलीप सिंह यादव की अदालत ने भारतीय दंड संहिता की धारा 306 में दोष सिद्ध होने पर पति को दस वर्ष की कठोर कारावास की सजा दी और आरोपित ससुर रामलक्ष्मन यादव, सास सुखिया देवी व देवर अमरजीत यादव को 8 वर्ष की सजा सुनाई। आरोपितों पर अर्थदंड भी लगाया है। साथ ही बताया है कि अर्थदंड न जमा करने पर सजा की अवधि एक वर्ष बढ़ा दी जाएगी।

मामला थाना धानापुर इलाके से जुड़ा हुआ बताया जाता है, जिसमें शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना से प्रेमशीला नाम की महिला की मौत  हो गई थी।

अभियोजन के अनुसार मुकदमा वादी सत्यनारायण यादव ग्राम जेवरियाबाद की बहन प्रेमशीला का विवाह जगदीश यादव पुत्र रामलक्ष्मन यादव ग्राम सरया थाना धानापुर के साथ हुआ था। शादी के बाद बहन को बच्चे नहीं हुए तो पति, सास, ससुर, देवर उसे ताना मारने लगे। शारीरिक व मानसिक प्रताड़ना से प्रेमशीला तंग आ गई थी।

प्रताड़ना की शिकायत वादी द्वारा 16 मई 2010 को थाना में की गई। 21 अक्टूबर 2010 को प्रेमशीला की मृत्यु हो गई। ससुराल वालों ने डायरिया से मरने की सूचना दी। वादी ने 23 अक्टूबर 2010 को बहन को आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज कराया।

न्यायालय ने मुकदमे के परीक्षण के बाद आरोपितों को दोषी करार दिया।

Comments

comments