चंदौली जिले में राजकीय मेडिकल कॉलेज करीब 365 करोड़ की लागत से बनेगा। सैयदराजा क्षेत्र के बरठी कमरौर में मेडिकल कॉलेज के नाम जमीन अभिलेख में दर्ज हो गई है। जल्द ही धनराशि स्वीकृत होते ही कार्यदायी संस्था राजकीय निर्माण निगम कार्य शुरू कर देगा। मेडिकल कॉलेज से चंदौली के अलावा आसपास के जिलों और बिहार के समीपवर्ती जिले के लोगों को काफी सहूलियत होगी। जिले में मेडिकल कॉलेज के निर्माण का मुद्दा पांच साल चल रहा है। हालांकि अब मेडिकल कॉलेज के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है।

शासन से मेडिकल कालेज बनाने की मंजूरी मिल चुकी है। जिला प्रशासन ने तहसील कर्मियों को जमीन चिह्नित कर दस्तावेज तैयार करने का फरमान जारी किया। तहसील प्रशासन ने सैयदराजा क्षेत्र के बरठी कमरौर में नेशनल हाईवे के किनारे पांच एकड़ सेल टैक्स विभाग की खाली जमीन के अलावा एक एकड़ ग्राम समाज की भूमि को चिह्नित किया। वहीं 6.44 एकड़ जमीन किसानों से लेकर मेडिकल कालेज के नाम से दर्ज कर दी गई।

जिला अस्पताल में बने 200 सैय्या वाले एमसीएच विंग के साढ़े 9 एकड़ जमीन को चिह्नित किया गया है। जिला प्रशासन की ओर से मेडिकल कालेज बनाने के लिए कुल 22 एकड़ जमीन का प्रस्ताव शासन को भेज दिया गया। शासन की ओर से मुहर भी लग गई है। अब बहुत जल्द शासन से 365 करोड़ की धनराशि स्वीकृत हो जाएगी। इसके बाद राजकीय निर्माण निगम की ओर से मेडिकल कालेज का निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। जिले की लगभग 21 लाख की आबादी ही नहीं आसपास के जिले गाजीपुर, सोनभद्र के अलावा बिहार प्रांत के लोगों को इलाज कराने में काफी सहूलियत होगी।

एडीएम बच्चालाल बोले

जिले में राजकीय मेडिकल कालेज बनाने के लिए जमीन चिह्नित कर सभी प्रक्रिया पूरी ली गई है। शासन को प्रस्ताव भी भेज दी गई है। जल्द ही शासन से धनराशि भी स्वीकृत हो जाएगी। इसके बाद निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा।