धानापुर में 71 हजार विद्यार्थियों को जल्द ही स्टडी सोलर लैंप बांटने की तैयारी

धानापुर में 71 हजार विद्यार्थियों को जल्द ही स्टडी सोलर लैंप बांटने की तैयारी

धानापुर। चंदौली जिले के इस इलाके के विद्यार्थियों को अब बिजली की अनियमित कटौती से परेशान होने की जरूरत नहीं है। शासन की ओर से धानापुर ब्लॉक के 71 हजार विद्यार्थियों को जल्द ही स्टडी सोलर लैंप मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए ब्लाक अंतर्गत दो अलग अलग मरम्मत व वितरण केंद्र भी स्थापित होंगे। योजना को मूर्तरूप देने के साथ ही राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन से जुड़ी 70 से अधिक महिलाओं को रोजगार का भी लाभ मिल सकेगा।

भारत सरकार के नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, आईआईटी मुंबई, ईईएसएल व उत्तर प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के संयुक्त तत्वावधान में योजना के तहत उन विद्यार्थियों को लाभान्वित करने का प्राविधान है, जो ग्रामीण एवं पिछड़े क्षेत्र के स्कूलों में पढ़ते हैं। उन्हें बिजली की भारी किल्लत से जूझना पड़ता है।

सरकार की पहल पर सूबे में अब तक 70 लाख सौर ऊर्जा लैंप परियोजना चलाई जा रही है। इस योजना का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्र के स्कूली बच्चों की शैक्षिक समृद्धि और आजीविका के लिए समूह की महिला सदस्यों को स्वावलंबी बनाना है। महिलाओं को न सिर्फ प्रशिक्षित कर सोलर लाइट बनाना व वितरण करना सिखाया जाना है। बल्कि उन्हीं के माध्यम से कक्षा एक से 12वीं तक के सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थीयों में स्टडी लैंप वितरण के जरिए रोजगार भी मुहैया कराना है।

परियोजना प्रबंधक शैलेंद्र द्विवेदी की माने तो इस योजना अंतर्गत प्रारम्भिक से माध्यमिक स्तर तक के छात्र छात्राओं को स्कूलों में स्टडी सोलर लैम्प का वितरण मात्र सौ रुपये में किया जाएगा। बाजार में सोलर लैंप की लगभग 700 रुपये कीमत है। इसे बनाने में जुटी समूह की महिलाओं को 12 रुपये प्रति लैंप और उसे वितरित करने वाली महिलाओं को 17 रुपये प्रति लैंप दिए जाने का प्रस्ताव है। परियोजना उन क्षेत्रों में चलाई जा रही है, जहां पर या तो बिजली का कनेक्शन नहीं है, या फिर कनेक्शन होने पर भी बिजली की भारी कटौती होती है।

प्रथम चरण में चंदौली, सोनभद्र, उन्नाव, बहराइच, लखीमपुर खीरी, हरदोई, इलाहाबाद, वाराणसी, मिर्जापुर, गोरखपुर, लखनऊ, हमीरपुर, चित्रकूट जिले के 16 अलग अलग ब्लाकों में योजना चल रही है। इसके तहत राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन की 400 से अधिक महिलाओं को रोजगार भी मिल चुका है। प्रथम चरण में चयनित जिलों में 3 लाख 70 हजार बच्चो को स्टडी सोलर लैंप का वितरित किया जाना है।

जिले में धानापुर ब्लॉक का चयनस्टडी सोलर लैंप वितरण योजना के तहत चंदौली जिले में सिर्फ धानापुर ब्लॉक का चयन किया गया है। यहां मंगलवार को ही मुंबई से आई प्रशिक्षकों के दल ने समूह सखियों को प्रशिक्षण भी दे दिया है। अगले सप्ताह से सखियां गांव गांव में जाकर स्कूली बच्चों में स्टडी सोलर लैम्पों का वितरण शुरू करेगी।

Comments

comments