चंदौली लोकसभा चुनाव की गहमा-गहमी बढ़ती जा रही हैं। दावेदार प्रत्याशी क्षेत्रों में शादी विवाह, बरही-तेरही सहित तमाम अवसरों पर जाकर जनता के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज कराने के लिए दौड़ भाग में जुट गए हैं।

प्रदेश में सपा बसपा के गठबंधन के बाद जहां चंदौली लोकसभा सीट सपा के खाते में निर्धारित की गई है। वहीं सपा से लोकसभा प्रत्याशी के रूप में लगभग 8 लोगों ने पार्टी मुख्यालय में दावेदारी ठोंकते हुए अपनी दावेदारी पेश की है, जिसमें चार चंदौली के नेता और चार वाराणसी के नेता शामिल हैं।

ये मांग रहे टिकट

चंदौली से पूर्व सांसद रामकिशुन यादव, सैयदराजा के पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू, मुगलसराय के पूर्व विधायक बब्बन सिंह चौहान एवं पार्टी के नेता महेश जायसवाल ने भी अपनी अपनी दावेदारी ठोंक दी है।

वहीं वाराणसी से भी 4 लोगों ने चंदौली लोक सभा सीट पर सांसद बनने के लिए सपा कार्यालय लखनऊ में अपनी दावेदारी प्रस्तुत की है। इसमें हीरा लाल मौर्या, डॉक्टर रमेश राजभर और रामचंदर यादव जैसे दिग्गज नेता बताए जा रहे हैं।

जिलाध्यक्ष का दावा

चंदौली की सीट पर अपने प्रत्याशी की जीत से आश्वस्त सपा के जिलाध्यक्ष सत्यनारायण राजभर ने बताया कि जहां भाजपा देशभक्ति का ढिंढोरा पीटकर विकास से लोगों का ध्यान भटका रही है, तो वहीं किसानों व नौजवानों के ज्वलन्त मुद्दों को दरकिनार करके चुनाव में जीत हासिल करने की कोशिश कर रही है। भाजपा इस मंसूबे पर अबकी बार जनता पानी फेर देगी और सपा बसपा बसपा के गठबंधन के प्रत्याशी को चंदौली लोकसभा सीट पर शानदार जीत दर्ज कराएगी।