9 छोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई, दो नर्सिंग होम तत्काल किए गए सील

9 छोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्रवाई, दो नर्सिंग होम तत्काल किए गए सील

चंदौली। जिले में मरीजों की जान से खिलवाड़ करने वाले मौत के सौदागरों की लगातार शिकायत मिलने पर  मुख्य चिकित्सा अधिकारी  के निर्देश पर नक्सल प्रभावित क्षेत्र नौगढ़ में झोलाछाप डॉक्टरों व अवैध तरीके से संचालित नर्सिंग होमों पर कार्यवाही की गई।  छापेमारी के दौरान 9 झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ  कार्यवाही की गई ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर प्रमोद कुमार मिश्रा के निर्देशन पर आज नक्सल  नौगढ़ क्षेत्र में अवैध तरीके से फल फूल  रहे नर्सिंग होम व मरीजों की जान से खिलवाड़ करने वाले  झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ सघन अभियान चलाया गया । जैसे ही अवैध नर्सिंग होम संचालकों को छापेमारी की भनक लगी वैसे ही क्षेत्र में  खलबली मच गई और अवैध नर्सिंग होम संचालक मौके से  नर्सिंग होम बंद कर फरार होने लगे।

पूरे नक्सल क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल छाया रहा। वहीं झोलाछाप डॉक्टरों द्वारा अपने तरीके से मरीजों का इलाज किया जा रहा था जब डॉक्टरों की टीम उनके यहां पहुंची तो वहां से झोलाछाप डॉक्टर मौके से मरीजों को छोड़ फरार हो गए और मरीजों में भी खलबली मच गई।

इस संबंध में टीम की अध्यक्षता कर रहे डॉक्टर डी के सिंह  ने बताया कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी के निर्देश पर एक टीम बनाकर नौगढ़ क्षेत्र में झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ अभियान चलाया गया, जिसमें 9 झोलाछाप डॉक्टरों के खिलाफ कार्यवाही हुई तथा 2 को तत्काल प्रभाव से क्लीनिक को बंद करने का निर्देश दिया गया और कहा गया कि 5 दिन के अंदर सभी झोलाछाप डॉक्टर क्लीनिक संचालकों को अपनी आख्या जिला मुख्यालय पर प्रस्तुत करें नहीं तो उन्हें मेडिकल एक्ट के तहत 152 के अंतर्गत वैधानिक कार्यवाही करते हुए नौगढ़ थाने में मुकदमा पंजीकृत करा दिया जाएगा।

Comments

comments