प्रार्थना सभा के बाद मुगलसराय में निकाली गयी बाल यीशु की शोभा यात्रा

प्रार्थना सभा के बाद मुगलसराय में निकाली गयी बाल यीशु की शोभा यात्रा

क्रिसमस डे के पूर्व दिसंबर माह के पहले रविवार को यूरोपियन कॉलोनी स्थित चर्च पर बाल यीशु की प्रार्थना सभा आयोजित हुई। इसाई धर्मालंबियों ने मोमबत्ती जलाकर परिवार की खुशहाली व समृद्धि की मनोकामना की। दोपहर करीब तीन बजे चर्च से शोभा यात्रा निकाली गई। शोभा यात्रा में विभिन्न प्रांतों के चर्च के फायर व इसाई धर्मालंबी शामिल हुए।

इसाई धर्म का सबसे बड़ा पर्व क्रिसमस डे आगामी 25 दिसंबर को मनाया जाएगा। इसके पूर्व रविवार को बाल यीशु को याद किया गया। पूरा चर्च झोलरों व रंगीन बत्तियों से सजाया गया। चर्च के ईदगिर्द अस्थाई दुकानें सज गई। सुबह 8 बजते-बजते चर्च में श्रद्धालुओं का आवागमन शुरू हो गया। सुबह 8 से लेकर साढ़े 9 बजे तक यीशु के लिए प्रार्थना सभा की गई।

पूरा चर्च श्रद्धालुओं से भरा पटा रहा। लोगों ने भगवान यीशु के सामने मोमबत्ती जलाकर अपने सुख समृद्धि की कामना की। लोगों ने चर्च के बाहर लगे मेले का जमकर लुफ्त उठाया। दोपहर तीन बजे चर्च से शोभा यात्रा निकाली गई। सबसे आगे आगे बाल यीशु की प्रार्थना करते धर्मालंबी व बच्चे चल रहे थे। वहीं पीछे फूलों के सेज पर सजी बाल यीशु की पालकी चल रही थी।

 

चर्च के फादर विपिन सिजे ने बताया कि हर साल बाल यीशु के उपलक्ष्य पर दिसंबर माह के पहले रविवार को शाेभा यात्रा निकाली जाती है। बाल यीशु का जन्मोत्सव आगामी 25 दिसंबर को धूमधाम से मनाया जाएगा।

Comments

comments