जांच टीम के सामने शिकायतकर्ता की थाने में हुई पिटाई, इसके बाद नौगढ़ में बवाल व हंगामा

जांच टीम के सामने शिकायतकर्ता की थाने में हुई पिटाई, इसके बाद नौगढ़ में बवाल व हंगामा

नौगढ़ विकास खंड के बाघी ग्राम प्रधान प्रभु जायसवाल के खिलाफ गांव के ही प्रदीप केसरी ने जिलाधिकारी से ग्राम पंचायत में कराये गए कार्यो की जांच कराने की मांग की थी, जिसको लेकर जिलाधिकारी ने 3 सदस्य टीम गठित करके मौके पर जाकर निष्पक्ष जांच करने का आदेश दिया था ।

जब  टीम नौगढ़ मुख्यालय पहुंचकर गांव में जाकर जांच में जुट गई तो शिकायतकर्ता का आरोप है कि एक कमरे में बैठ कर जांच की जा रही थी और मेरे ऊपर जबरी दबाव बनाया जा रहा था कि हम जो कह रहे हैं वही कहा जाय। इस पर हमारे द्वारा नकारे जाने पर बदसलूकी का आरोप लगाते हुए हमको थाने में बैठा लिया गया और वहां के एक दरोगा द्वारा मेरी पिटाई भी की गई।

इस मामले को सुनते ही ग्रामीण आग बबूला हो गए और नौगढ़ मुख्यालय पर ही सड़क को जाम कर दिया और नारेबाजी करने लगे। देखते ही देखते मामला प्रशासन तक पहुंचा तो क्षेत्राधिकारी नौगढ़ मौके जाकर तुरंत शिकायतकर्ता को रिहा काराया और ग्रामीण से जाम हटाने को कहा।

लेकिन ग्रामीण थाने में तैनात दरोगा को तत्काल लाइन हाजिर करनेकी मांग पर अड़े रहे। वहीं शिकायतकर्ता ने बताया कि ग्राम प्रधान प्रभु जायसवाल के कहने पर जांच टीम नौगढ़ का पुलिस प्रशासन जांच को प्रभावित कर के मुझे प्रताड़ित करने का प्रयास किया और प्रधान को लाखों रुपए की गबन से बचाने का कुचक्र रचा जा रहा है।

क्षेत्रधिकारी ने लगभग 5 घंटे से जाम करने वाले ग्रामीणों को समझा बुझा कर जांच के बाद कार्यवाही करने के आश्वासन के बाद मनाया।

वही क्षेत्रधिकारी नौगढ़ नीरज सिंह ने बताया कि शिकायत कर्ता द्वारा जांच टीम के साथ बसलूकी का मामला आया था जिसको लेकर पुलिस दो लोगो को थाने लेकर आई थी जिन्हें छोड़ दिया गया आगे जांच कर कार्यवाही की जाएगी।

Comments

comments