व्यापारियों व उद्यमियों ने किया 28 सितंबर को भारत बंद का एलान

व्यापारियों व उद्यमियों ने किया 28 सितंबर को भारत बंद का एलान

कंफेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया व उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने 28 सितंबर को भारत बंद का एलान किया है। जीएसटी, एफडीआई, मंडी शुल्क, सैंपलिंग, आयकर ऑन लाइन ट्रेडिंग की जटिलताओं के खिलाफ केंद्र सरकार के विरोध में व्यापारियों से अपनी अपनी दुकान व प्रतिष्ठनों को बंद करने की अपील की। उक्त बातें सोमवार को गल्ला मंडी कैंप कार्यालय पर उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के प्रदेश संगठन मंत्री राजकुमार जायसवाल ने मीडिया से वार्ता में कही।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार व्यापारियों व उद्यमियों की हितैषी बनने का दावा कर रही है। वहीं दूसरी ओर जीएसटी, एफडीआई आदि कमर तोड़ दी है। खुदरा व्यापारियों का पूरा व्यापार चौपट होने लगा है। कंफेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स व उप्र उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडी के नेतृत्व में भारत वर्ष के प्रमुख व्यापारी ने एकजुट होकर भारत बंद करने का निर्णय लिया है।

पूरे देश में दवा व्यापारी भी  28 सितंबर को अपना करोबार बंद रखेंगे। अध्यक्ष मंसूर आलम बताया कि 25 सितंबर को मस्त लॉज गली स्थित केंद्रीय कार्यालय में व्यापारियों संग बैठककर रणनीति बनाई जाएगी। 26 को व्यापारियों से जनसंपर्क व 27 सितंबर को व्यापारी शहर में मशाल जुलूस निकालेंगे।

युवा प्रकोष्ठ के प्रदेश सचिव व जिलाध्यक्ष चंद्रेश्वर जायसवाल ने कहा कि सरकार को जीएसटी में 5 प्रतिशत व 18 प्रतिशत के दरें रखी जानी चाहिए। जुर्माना दस हजार रुपये से अधिक नहीं होना चाहिए। जेल की सजा का प्रावधान समाप्त होना चाहिए। इस मौके पर रामानंद सेठ, भरतलाल अग्रहरि, माजिद परवेज, शमीम सादाब, अखिलेश जायसवाल आदि व्यापारी मौजूद रहे।

Comments

comments