चकिया तहसील में 50 घंटे की भूख हड़ताल शुरू, ये हैं मांगें

चकिया तहसील में 50 घंटे की भूख हड़ताल शुरू, ये हैं मांगें

चकिया। चंदौली जिले के नक्सल प्रभावित इलाकों में गरीबों को आवास, शौचालय व भूमिहीनों को जमीन नहीं दिए जाने से नाराज भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माक्सर्वादी-लेनिनवादी) ने मंगलवार को आंदोलन छेड़ दिया। पार्टी के राज्य कमेटी सदस्य मिठाई लाल बिंद ने 50 घंटे की भूख हड़ताल तहसील परिसर में शुरू कर दी।

भूख हड़ताल स्थल पर सभा के माध्यम से वक्ताओं ने केंद्र व प्रदेश सरकार पर वायदा खिलाफी का आरोप लगाते हुए भड़ास निकाली। वक्ताओं ने कहा कि मोदी योगी की घोषणा आम जन को भ्रमित करने वाली है। लोगों को गुमराह करके वोट की राजनीति की जा रही है। गरीब पात्र व्यक्तियों को आवास, शौचालय योजना से लाभान्वित नहीं किया जा रहा है। भूमिहीनों को जमीन दिए जाने के वायदे खोखले साबित हुए हैं।

देश व प्रदेश में अराजकता का माहौल उत्पन्न है। गरीबों का उत्पीड़न लगातार किया जा रहा है। कहा कि पार्टी के नेता कुम्भ कर्ण राम को इलिया पुलिस ने दो दिनों तक बैठाए रखा। मारने पीटने के बाद पार्टी कार्यकर्ता को जेल भेज दिया गया। निर्णय लिया कि 21 जुलाई को इलिया थाने पर प्रतिवाद मार्च निकाला जायेगा।

सभा के माध्यम से दलित गरीबों का एलान, लड़कर लेंगे जमीन मकान, जो जमीन सरकारी है वह जमीन हमारी है..के नारे बुलंद करते 15 जुलाई से 30 सितंबर तक चलने वाले बृहद आंदोलन में बढ़चढ़ हिस्सेदारी निभाने का आह्वान किया गया।

Comments

comments