चंदौली यूपी बिहार बॉर्डर को जोड़ने वाले डायवर्जन मार्ग को सुचारू रूप से चलने में लगता है 2 दिन और का अभी समय लग सकता है। लेफ्ट साइड के लेफ्ट साइड के डायवर्जन मार्ग का कालीकरण एवं राइट साइड के डायवर्जन मार्ग का टेस्टिंग किया जा रहा है । जिसके तहत 12 घंटे बिहार की तरफ से एवं 12 घंटे यूपी की तरफ से गाड़ियों का आवागमन निर्धारित किया गया है।

 

बताते चलें कि यूपी बिहार बॉर्डर के नदी का पुल टूट जाने के कारण बन रहे डायवर्जन मार्ग में प्रतिदिन सुधार होता जा रहा है धीरे-धीरे गाड़ियों का आवागमन शुरू है । इसके लिए 12 घंटे बिहार साइड से और 12 घंटे यूपी की तरफ से गाड़ियों को छोड़ा जाता है । जिससे आवागमन सुचारू रूप से चल सके और छोटी गाड़ियों के लिए पुराने जीटी रोड मार्ग से गाड़ियों का आवागमन निरंतर जारी है ।

 

इस संबंध में एनएचआई के टेक्नीशियन मैनेजर नागेश सिंह ने बताया कि एलएच की तरफ से डायवर्जन मार्ग का कालीकरण का कार्य शुरू है ,जिसे 2 दिन में पूर्ण कर लिया जाएगा ,उसके बाद लेफ्ट राइट किए जाए वर्जन मार्ग को खोल दिया जाएगा इसलिए हो रहा है कि जाम में डायग्राम में मैटेरियल लेकर आने वाली गाड़ियां भी दिन दिन भर फंस जा रही हैं ।जिनके कारण काम सुचारू रूप से नहीं हो पा रहा है। लेकिन 2 दिन में लेफ्ट साइड की डायवर्जन मार्ग का कालीकरण होने के बाद इस मार्ग को सुचारु रुप से चला दिया जाएगा ।तब तक राइट साइड के डायवर्जन मार्क से 12 -12 घंटे के अंतराल पर गाड़ियां छोड़ी जा रही हैं। सुबह 6:00 बजे से लेकर शाम 6:00 बजे तक बिहार की तरफ से गाड़ियों का आवागमन होता है। शाम 6:00 बजे से सुबह 6:00 बजे तक यूपी के गाड़ियों को छोड़ा जाता है । लेकिन बिहार के तरफ से पुलिस का सही सहयोग न मिलने के कारण जाम होने की भी समस्या आ रही है। जिसके लिए कैमूर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से वार्ता निरंतर होती रहती है