चंदौली जिले में मुख्य विकस अधिकारी सहित कई अधिकारियों ने नीति आयोग के मानक के अनुसार आकांक्षात्मक जनपद में विकास को गति देने का काम किया है। इसके चलते मई माह में जनपद नीति आयोग की रैंकिंग में प्रदेश में दूसरे स्थान पर रहा है। वहीं केंद्र सरकार की ओर से पांच करोड़ रुपये का पुरस्कार भी मिला है।

इसे देखते हुए जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल ने सीडीओ, कृषि उपनिदेशक, बीएसए समेत जिले के पांच अधिकारियों को नामित किया है। वहीं नीति आयोग के सीईओ को पत्र भेजकर जिले में अधिकारियों का तबादला न करने की संस्तुति की है।

आकांक्षात्मक जनपद में स्वास्थ्य, शिक्षा, स्वच्छता, कृषि, कुपोषण , इंफ्रास्ट्रक्चर के क्षेत्र में विकास के लिए तमाम कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। विभागीय अधिकारियों को योजनाओं को अंजाम तक पहुंचाने का दायित्व दिया गया है। पिछले दो वर्षों में शिक्षा, स्वास्थ्य व कृषि के क्षेत्र में काफी प्रगति हुई है।

इसके चलते मई माह में जनपद नीति आयोग की रैंकिंग में प्रदेश में दूसरे स्थान पर भी रहा है। वहीं केंद्र सरकार की ओर से पांच करोड़ रुपये का पुरस्कार भी प्रदान किया गया है।

इस पर जिलाधिकारी ने आयोग के मानक पर खरा उतरने वाले मुख्य विकास अधिकारी डा. अभय कुमार श्रीवास्तव, एडिशनल सीएमओ डा. डीके सिंह, कृषि उपनिदेशक विजय सिंह, बीएसए भोलेंद्र प्रताप सिंह व जिला अर्थ व संख्या अधिकारी राजीव श्रीवास्तव को नामित किया है। उन्होंने इसके बाबत आयोग के सीईओ को पत्र भेजा है। अधिकारियों की नियुक्ति जनपद में बरकरार रखने की संस्तुति की है।