ये हैं उत्तर प्रदेश के CO नंबर-1, जानें इनके अनोखे अंदाज में किए गए काम

ये हैं उत्तर प्रदेश के CO नंबर-1, जानें इनके अनोखे अंदाज में किए गए काम

चन्दौली जिले में  जनता की समस्याओं के निस्तारण के लिए ऑनलाइन शिकायतों सहित अन्य संदर्भो में जहाँ जनपद 75 जिलों में पिछले दो महीने से पहले स्थान पर बना हुआ है तो वहीं, सकलडीहा के क्षेत्रधिकारी त्रिपुरारी पांडेय भी कई महीनों से लगातार समस्याओं के निस्तारण में प्रदेश के 2907 रैंक में उच्च स्थान बरकरार हैं।

 

जनपद जहाँ प्रदेश के 75 जिलों में शिकायतों के निस्तारण में पुलिस अधीक्षक सन्तोष सिंह के निर्देश पर जिले की पूरी टीम के सहयोग से पिछले दो माह से प्रथम स्थान पर है वही सकलडीहा सीओ भी अपनी कार्य कुशलता एवम अपने कार्यालय के कर्मचारियों के सहयोग से प्रदेश के 2907 रैंक में पहला रैंक पिछले छः महीनों से कायम किये हैं।

 

यही नहीं, जनपद का कोई भी क्षेत्रधिकारी इनके अगल बगल दूर दूर तक नहीं दिखायी दे रहा है। क्षेत्रधिकारी सदर 90%के साथ 938 रैंक पर , चकिया 77.78%के साथ 1295 रैंक पर वही नौगढ़ और मुग़लसराय 0% के साथ क्रमशः 1831 तथा 2766 रैंक पर है।

आल इन वन की तर्ज पर कार्य करने वाले सकलडीहा क्षेत्राधिकारी अपने सर्किल के असहाय गरीबों, पीड़ितों के लिए जहाँ सभी मर्ज की दवा के रुप में मुलायम हैं तो वहीं गलत काम करने वालों के लिये काल के समान दिखाई देने वाले कठोर अधिकारी भी हैं ।

 

सीओ सकलडीहा त्रिपुरारी पांडे ने सदर में रहते हुए एआरटीओ आरएस यादव जैसे जगलर अधिकारी को भ्रस्टाचार के मामले में अंदर करते हुए बड़े बड़े कार्य करते हुए पुलिस विभाग में जनपद के नाम को शुमार किया है। तो वहीं जीआरपी में रहते हुए भी अपने कार्य शैली के चलते मुग़लसराय और कानपुर जैसे संवेदनशील दोनो स्टेशनों के एक साथ प्रभारी लगभग छः महीने तक रहकर कई काम किए हैं।

 

बोले सीओ सकलडीहा- त्रिपुरारी पांडे

 प्रथम रैंक पाना कोई मायने नहीं रखता है। अपने कार्यों को निष्पक्ष रूप से करते हुए पीड़ितों की समस्याओं का निस्तारण करना मेरा परम कर्तब्य है और यह सब पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन में कुशलता पूर्वक करने का परिणाम है।

 

Comments

comments