जिसे घर वालों ने ठुकराया उस लड़की को भी बचाना चाहते हैं सीओ सकलडीहा, यह है मामला

जिसे घर वालों ने ठुकराया उस लड़की को भी बचाना चाहते हैं सीओ सकलडीहा, यह है मामला

कहते हैं..परहित सरिस धर्म नहीं भाई । पर पीड़ा सम नही अधमाई ।। …तुलसीदास के राम चरित मानस की इस चौपाई को चरितार्थ करते हुए सकलडीहा क्षेत्राधिकारी त्रिपुरारी पांडे ने एक प्रेम में पागल नाबालिक लड़की द्वारा आत्महत्या के प्रयास किए जाने के बाद जिंदा बचने पर जहां जिला चिकित्सालय के डॉक्टरों ने हालत सीरियस देखते हुए ट्रामा सेंटर वाराणसी रेफर कर दिया था, वहीं समाज में परिवार को कलंकित करने वाली इस नाबालिक लड़की को परिजनों ने अपनाने से लगभग मना कर दिया और उसके मरने का इंतजार करने लगे।

ऐसी सूचना के बाद क्षेत्राधिकारी सकलडीहा ने जिला हॉस्पिटल पहुंचकर के डॉक्टर से जिंदगी और मौत से जूझ रही लड़की को रेफर करने की बात कही।  तो डॉक्टर ने बताया कि  उसके गर्दन में अंदरूनी चोट है जो उसकी जिंदगी के लिए घातक हो सकता है और उसकी मौत हो सकती है।

इतना सुनते ही सीओ साहब ने अपने हमराही को अपना एटीएम दे कर के उस लड़की को शाम 6:00 बजे ट्रामा सेंटर वाराणसी के लिए रवाना किया और अपने सिपाही से कहा उसके परिजन भले ना उसको जिंदगी देना चाहते हो लेकिन हमारा मानव धर्म है कि उसकी जिंदगी की रक्षा करने में जो भी मदद कर सकें वो जरूर करें।

सीओ साहब ने कहा कि भले ही लड़की ने चाहे जो भी किया हो लेकिन उसको मरने नहीं दिया जाएगा और उसके उपचार में कोई कमी नहीं आनी चाहिए और उसका समुचित उपचार होना चाहिए। सिपाही ने रात में ही लड़की को ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया और दवा होने के बाद सुबह लड़की को खतरे से बाहर बताया जा रहा है।

वहीं, क्षेत्रधिकारी सकलडीहा ने बताया कि परिवार का कोई जिम्मेदार व्यक्ति नहीं होने के कारण जो भी लगा मैंने उसके उपचार का सारा खर्च उठाया और उसको इस दुनिया में नई जिंदगी जीने के लिए प्रेरित किया। समाज में मानव से गलतियां होती रहती हैं और गलतियों से सबक सीखना चाहिए। पुलिस विभाग जहा सभी लोगो की रक्षा करने का धर्म निभाता है वही एक मानव होते हुए मानव का धर्म निभाना चाहिए। उसी दिशा निर्देश पर हमारा विभाग और हम काम करते हैं।

गौरतलब है कि शनिवार को धिना थाना के माधोपुर गांव के खेत मे एक प्रेमी जोड़े ने आत्म हत्या के प्रयास किया था, जिसमे प्रेमी लड़के की मौत होगई थी और लड़की घायल आस्था में हॉस्पिटल में भर्ती काराई गई थी। इस घटना की जानकारी के बाद धानापुर थाना क्षेत्र के लड़की के पिता की भी सदमे से मौत होगई थी। उसके बाद से लड़की से परिवार के सभी लोगो ने उससे मुंह मोड़ लिया था और मरने का इंतजार कर रहे थे।

Comments

comments