चंदौली जिले के दौरे पर आए  कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने सकलडीहा में अपनी समीक्षा बैठक में एक फरमान सुना दिया। आला अधिकारियों के साथ समीक्षा के दौरान मंगलवार को वह सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य व विद्युत व्यवस्था को लेकर नाराज दिखे। सबको चेतावनी देते हुए कहा कि लापरवाही पर विभागीय कार्रवाई नहीं बल्कि मुकदमा दर्ज होगा। कमिश्नर के तेवर को देख अधिकारी सकते में दिखे। उन्होंने जिलास्तरीय अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए।

विद्युत विभाग के एक्सईएन की विद्युत अनियमितता व ट्रांसफार्मर को लेकर क्लास ली। बीएसए को बच्चों को जूता-मोजा व ड्रेस के साथ ही बेहतर शिक्षा व्यवस्था की नसीहत दी। पीडब्लूडी विभाग के अधिकारियों से जर्जर सड़कों को लेकर नाराजगी जताया। पूछा कब तक ठीक कर देंगे। अधिकारियों ने कुछ सड़कें 31 अक्टूबर व सभी सड़कें दिसम्बर के अंत तक ठीक करने की बात कही।

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को शत प्रतिशत योजना का लाभ व संस्थागत प्रसूति कराने की सख्त हिदायत दी। महामाया पालिटेक्निक कॉलेज को लेकर सम्बन्धित विभाग के अधिकारियों को सख्त हिदायत दी। लम्बित पड़े राजस्व मामलों पर एसडीएम व तहसीलदार को चेताया कि पैमाइश के आदेश के बाद भी कब्जा न मिलने पर सम्बन्धित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होगी। कहा लापरवाही क्षम्य नहीं होगी।

जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल, सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव सहित अन्य जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित थे।