नोटबंदी के दो वर्ष पूरे होने पर कांग्रसियों ने दिया धरना, देश को हुए नुकसान का दिया हवाला

नोटबंदी के दो वर्ष पूरे होने पर कांग्रसियों ने दिया धरना, देश को हुए नुकसान का दिया हवाला

चंदौली जिले के कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने नोटबंदी के दो वर्ष पूरे होने पर सोमवार को जिला मुख्यालय पर पंडित कमलापति त्रिपाठी पार्क में धरना दिया। इस दौरान केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की। नोटबंदी से देश को नौ लाख करोड़ का नुकसान होने का आरोप लगाया। कार्यकर्ताओं ने सरकार की जनविरोधी नीतियों की आलोचना की।

कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष देवेंद्र प्रताप सिंह मुन्ना ने कहा कि प्रधानमंत्री का नोटबंदी का फैसला देश के लिए काला अध्याय साबित हुआ। नोटबंदी से देश को करीब नौ लाख करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। देश की अर्थव्यवस्था पूरी तरह से बेपटरी हो गई। सरकार अपने गलत फैसले से हुई आर्थिक क्षति को जनता से छुपाने के लिए देश में विकास का ढोल पीटती रही। प्रधानमंत्री ने नोटबंदी से देश से काला धन, भ्रष्टाचार व आतंकवाद को समाप्त करने का वादा किया था। आज तक उनका वादा पूरा नहीं हो सका। बल्कि लोगों को बैंकों की लाइन में लगना पड़ा। पैसे के अभाव में दर्जनों शादियां टूट गईं।

 

इलाज के अभाव में मरीजों में दम तोड़ दिया। देश के किसान, नौजवान और व्यापारी बदहाल हो गए थे। इससे देश में बेरोजगारी को और बढ़ावा मिला। केंद्र की संवेदनहीन सरकार को अपने गलत निर्णय पर कोई पछतावा नहीं है। कहा कि भाजपा सरकार में पेट्रोलियम पदार्थों में मूल्यों में वृद्धि होने से वस्तुओं के दाम आसमान छू रहे हैं। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट के बावजूद सरकार डीजल व पेट्रोल के दाम बढ़ा रही है। इसका खामियाजा आमजन को भुगतना पड़ रहा है। 2019 के लोकसभा चुनाव में जनता हिसाब लेगी।

 

धरना में मधु राय, नारायणमूर्ति ओझा, सियाराम पाठक, सतीश बिंद, राजेंद्र गौतम, तौफिक खां, धरणीधर तिवारी, सुरेंद्र सिंह, संजय तिवारी, कपिलदेव पाठक, चंद्रभान तिवारी, धर्मेंद्र तिवारी, पंकज तिवारी, अरूण द्विवेदी आदि शामिल रहे।

Comments

comments