डीएम नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में शनिवार को कलक्ट्रेट सभागार में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक हुई। इसमें जिला होमियो पैथिक अधिकारी, जिला आयुर्वेदिक अधिकारी व जिला कार्यक्रम अधिकारी के अनुपस्थित रहने पर डीएम ने नाराजगी जतायी। उन्होंने सीडीओ डॉ. एके श्रीवास्तव को अनुपस्थित अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने का निर्देश दिया।

डीएम ने सितंबर माह में जननी सुरक्षा योजना में नियामताबाद, चहनियां व मुगलसराय की प्रगति रिपोर्ट काफी कम होने पर प्रभारी चिकित्साधिकारियों को जमकर फटकार लगाई। जेएसवाई के भुगतान की प्रगति कम होने पर सकलड़ीहा व मुगलसराय के प्रभारी अधिकारी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने का सीएमओ डॉ. आरके मिश्रा को निर्देश दिया। प्राइवेट हास्पिटलों में प्रसव की रिपोर्ट उपलब्ध नहीं कराने वाले अस्पतालों के विरुद्ध कार्रवाई के साथ ही एक सप्ताह में रिपोर्ट देने का निर्देश दिया। उन्होंने सीएमओ से कहा कि 102 व 108 एम्बुलेंस सेवा की निर्बाध व ससमय प्रसव के महिलाओं को सुलभता पूर्वक मिले। किसी तरह की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी।

उन्होंने सीएचसी व पीएचसी प्रभारियों को नियमित टीकाकरण कार्यक्रम चलाने का निर्देश दिया। डीएम ने कहा कि पुनरीक्षित क्षय रोग नियंत्रण कार्यक्रम के तहत सक्रिय क्षय रोगी खोज अभियान 10 से 23 अक्तूबर तक चलेगा। स्वास्थ्य टीम घर-घर जाकर टीबी मरीजों को खोजेंगे। इसके बाद नि:क्षय पोषण योजना के तहत चिह्नित व व उपचारित क्षय रोगियों को न्यूट्रीशन सपोर्ट के लिए 500 प्रतिमाह उपलब्ध कराने की प्रक्रिया पूरी कर रिपोर्ट देंगे। कहा कि सभी सरकारी अस्पतालों पर नि:शुल्क जांच एवं सम्पूर्ण उपचार उपलब्ध है।

उन्होंने सभी चिकित्साधिकारियों को शत-प्रतिशत टीबी मरीजों को खोजकर संपूर्ण इलाज सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। प्रगति रिपोर्ट में कम प्रदर्शन करने वाले प्रभारी चिकित्साधिकारियों को चेतावनी दी। धानापुर व चंदौली स्वास्थ्य केन्द्र में तैनात आउटसोर्सिंग व संविदा पर तैनात लापरवाह कर्मचारियों को चेतावनी जारी करने का आदेश दिया।

इसके बावजूद भी सुधार नहीं होने पर कार्यमुक्त करने का निर्देश दिया। बैठक में सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव, सीएमओ डा. आरके मिश्रा, बीएसए भोलेंद्र प्रताप सिंह आदि अधिकारी उपस्थित रहे।