चन्दौली जिले के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में गो-संरक्षण समिति की बैठक आयोजित की गयी, जिसमें चकचुहियाॅ एवं चतुर्भुजपुर सहित समस्त गो आश्रय स्थल में पानी की नियमित व्यवस्था, पर्याप्त चारा एवं पानी, साफ-सफाई, लाग बुक के अनुसार पशुओं की संख्या एवं पशु चिकित्सकों की नियमित उपस्थिति एवं शत् प्रतिशत निर्देशों का पालन करने पर बल दिया गया।

जिलाधिकारी ने कहा कि जो सुझाव दिए गए हैं उनका अनिवार्य रूप से पालन होता रहे। अगर किसी तरह की शिकायत मिली तो संबंधित अधिकारी  वेतन रोकते हुये विभागीय कार्यवाही तत्काल सुनिश्चित की जायेगी। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी को निदेर्शित करते हुये कहा कि पशुपालकों को प्रोत्साहित करें, और अधिक से अधिक गोवंशों को किसानों एवं पशुपालकों को सुपुर्द किया जाय।

बैठक के दौरान उप जिलाधिकारी नौगढ़, जिला विद्यालय निरीक्षक, अधिशासी अभियन्ता जल निगम, उप निदेशक कृषि एवं जिला कृषि रक्षा अधिकारी एवं जिला बचत अधिकारी के अनुपस्थित रहने पर 01 दिन का वेतन रोकने के साथ कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये।

बैठक में सख्त निर्देश देते हुये कहा कि बिमार पशुओं का सम्पूर्ण इलाज एवं उनकी नियमित देख-भाल किया जाय। किसी प्रकार की शिकायत न मिले अन्यथा कड़ी कार्यवाही सुनिश्चित होगी। चिकित्सक पशुओं का टीकाकरण अभियान चलाकर करते रहे किसी पशुओं को अन्य बिमारियों में मौत न हो। जिलाधिकारी ने नोडल अधिकारियों को निर्देश देते हुये कहा कि अस्थायी गो-आश्रय का नियमित भ्रमण कर रिपोर्ट से अवगत कराते रहे। व्यय पर वित्तीय नियमों का पालन अवश्य किया जाय। सारे अभिलेख अद्यतन रहे व पूरी पारदर्शिता के साथ रखने के निर्देश दिये। कहा कही अनियमितता न रहे। साथ ही यदि किसी भी आश्रय स्थल पर शेड का विस्तार करना है तो तत्काल करा लिया जाय आगामी ठण्डी के मौसम में किसी पशुओं को बाहर कदापि न रखेगें।

जिलाधिकारी ने कहा कि नगर पालिका दीनदयाल नगर में एवं एनएच पर कही भी छुट्टा पशु सड़कों आदि पर घूमते हुये पाये गये तो EO के खिलाफ कार्रवाई होगी। 

बैठक के दौरान उप जिलाधिकारी मुगलसराय एवं सकलड़ीहा, जिला पशु चिकित्साधिकारी, जिला विकास अधिकारी, परियोजना अधिकारी, जिला पंचायत राज अधिकारी, जिला मत्स्य अधिकारी सहित खण्ड विकास अधिकारी उपस्थित थें।