चंदौली जिले के जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल के आदेशों का पालन कई अधिकारी करने से कतराते रहते हैं। आज जब डीएम की अध्यक्षता में बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में आत्मा योजना गवर्निंग बोर्ड की बैठक हुई तो  इसमें  जिला उद्यान अधिकारी गायब रहे। इस पर जिलाधिकारी ने साहब का वेतन रोक दिया। साथ ही उनके खिलाफ शासन को पत्र भेजने के निर्देश दिए।

इस बैठक में ‘आत्मा’ के तहत संचालित योजनाओं के प्रगति की समीक्षा की गई। डीएम ने कहा कि योजना के संचालन में कृषि के साथ ही पशुपालन व उद्यान विभाग की बड़ी जिम्मेदारी है। लेकिन महत्वपूर्ण बैठक में जिला उद्यान अधिकारी नहीं पहुंचे थे। उन्होंने अपने स्थान पर किसी कर्मचारी को भेजा था। इस पर डीएम ने उनका एक दिन का वेतन रोक दिया। साथ ही सीडीओ डा. एके श्रीवास्तव को उनके खिलाफ पत्र तैयार कर शासन को भेजने के निर्देश दिए।

कृषि उपनिदेशक विजय सिंह ने बताया कि योजना के तहत प्रत्येक गांव में एक प्रगतिशील किसान का चयन किया जाना है। चयनित किसानों को हर माह एक हजार रुपये मानदेय दिया जाएगा। जनपद में 45 फार्म स्कूलों के आयोजन का लक्ष्य रखा गया है। ब्लाक में गांवों का चयन कर किसानों के खेतों में पाठशाला लगेगी। इसमें कृषि विशेषज्ञ अन्नदाताओं को खेती के नए तरीकों के बारे में जानकारी देंगे। कहा ग्रामीण महिलाओं को खेती-किसानी से जोड़ने की पहल की जा रही है। गांवों में महिलाओं के समूह का गठन कर उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। शासन स्तर से हर समूह को 10 हजार रुपये की आíथक सहायता प्रदान की जाएगी।

बैठक में मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. एसपी पांडेय, जिला कृषि अधिकारी राजीव कुमार भारती, डीसी मनरेगा धर्मजीत सिंह समेत अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।