चंदौली जिले के विकास भवन के सभागार में बुधवार को जिलाधिकारी नवनीत सिंह चहल की अध्यक्षता में किसान दिवस का आयोजन किया गया। इसमें किसानों की समस्या पर चर्चा के साथ धान की नर्सरी को खेतों में पानी पहुंचाने की मांग की गई। डीएम ने अधिशासी अभियंता मूसाखाड़ को सख्त निर्देश दिया कि अपने अधीनस्थों को हेड से टेल तक प्रतिदिन भ्रमण करने को निर्देशित करें।

राजवाहा, पुलिया, नहर सहित अन्य बड़े कुलावों की मरम्मत तत्काल कराएं। सीडीओ डा. अभय कुमार श्रीवास्तव को निर्देश दिया कि अधिशासी अभियंता एवं बंधी डिवीजन के अधिकारियों एवं कर्मचारियों से प्रतिदिन नहरों के भ्रमण का रजिस्टर बनाकर 30 किसानों का हस्ताक्षर कराएं। जिन किसानों से मिला गया, भ्रमण किया गया की जानकारी अंकित कराएं। तीन दिन के अंतराल पर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने किसानों की समस्याओं से रूबरू होते हुए विद्युत, नलकूप एवं बंधी डिवीजन के अधिकारियों की जमकर क्लास ली। नलकूप विभाग के द्वारा 32 नलकूप खराब होने की शिकायत पर नाराजगी जताई। हिदायत दी कि लापरवाही क्षम्य नहीं है। अमड़ा, धीना के टेल पर पानी न पहुंचना अधिकारियों की लापरवाही उजागर होती है। धान की नर्सरी डालने में परेशानी हुई तो कार्रवाई शासन स्तर से तय होगी।

कहा नहरों के क्षतिग्रस्त होने पर तत्काल मरम्मत कराएं। अधिशासी अभियन्ता विद्युत को सख्त हिदायत दी कि यांत्रिक दोष से खराब पड़े ट्रांसफार्मर को तत्काल बनवाना सुनिश्चित करें। दिवस में उप निदेशक कृषि विजय सिंह, जिला कृषि अधिकारी राजीव भारती, कृषि रक्षा अधिकारी अमित जायसवाल, अधिशासी अभियंता चंद्रप्रभा जेपी वर्मा, किसान रतन सिंह, दीनानाथ, शेषनाथ, मुन्ना सिंह आदि किसान उपस्थित थे।