भाजपा के डा. महेंद्रनाथ पांडेय ने चंदौली संसदीय सीट पर लगातार दूसरी बार जीत दर्ज 21 साल पहले भाजपा के ही उम्मीदवार के द्वारा बनाए गए एक रिकार्ड तोड़ा और साथ ही एक दूसरा रिकार्ड भी बनाया। महेन्द्रनाथ पांडेय ने  5,10,733 वोट पाकर जिले में पहली बार इस आंकड़े को छूने का गौरव हासिल किया है। चंदौली जिले में अभी तक किसी उम्मीदवार को 5 लाख वोट नहीं मिले थे।

हालांकि हारने वाले संजय चौहान भी पांच लाख का आंकड़ा छूते छूते रह गए। उन्हें कुल 4,96,774 मत मिले। इसी के चलते पांडेय ने गठबंधन से सपा प्रत्याशी संजय चौहान को 13959 मतों से हराया।

जिले में पड़े कुल 10,73,743 वोटों में भाजपा प्रत्याशी 48 फीसदी के आसपास वोट मिले तो  जबकि गठबंधन को 46 फीसदी वोटों को पाने में सफल हो पाया। जीत का अंतर भले ही कम हो लेकिन 2014 के चुनाव की तुलना में इस बार लगभग छह फीसदी ज्यादा वोट मिले। जबकि गठबंधन प्रत्याशी को सपा-बसपा का पूर्व के चुनाव की अपेक्षा इस बार लगभग एक फीसद कम वोट मिला है।

लगातार दूसरी बार जीते भाजपा प्रत्याशी ने 21 वर्ष का रिकार्ड तोड़ा है। क्योंकि 1991 से 98 के बीच इस सीट पर लगातार तीन बार भाजपा ने जीत दर्ज की थी। इसके बाद 2014 में ही भाजपा का खाता खुला। इस बीच सपा और बसपा ने ही इस सीट पर कब्जा जमाए रखा था।