चंदौली जिले में धान की नर्सरी डालने का समय हो गया है पर आदेश के बाद भी कई नहरों में पानी नहीं दिख रहा है। जिले की नहरें-माइनर सूखी पड़ी हैं। लगता है कि अधिकारी ठीक से होमवर्क नहीं करते।

आधा जून बीतने के बाद भी मानसून का आगमन नहीं दिख रहा। सकलडीहा राजवाहा व दरियापुर माइनर सहित कई जलस्त्रोत सूखे पड़े हैं। अधिकांश किसानों ने अभी तक धान की नर्सरी नहीं डाली है। जिन्होंने निजी स्त्रोतों से नर्सरी डाली भी है, अब वे उसे बचाने की जी-तोड़ कोशिश में लगे हैं।

इलाके के किसानों ने आरोप लगाया हर साल 1 से 5 जून के बीच नहरों में पानी छोड़ दिया जाता है। लेकिन निर्धारित समय बीतने के बाद भी नहरों में पानी नहीं छोड़ा गया। विभागीय अधिकारी व एसडीएम ने सम्पूर्ण समाधान दिवस में 5 जून तक पानी छोड़ने का आश्वासन दिया था।