किसानों का धरना रहा पन्द्रहवें दिन जारी, सांसद की बाट जोह रहे लोग

किसानों का धरना रहा पन्द्रहवें दिन जारी, सांसद की बाट जोह रहे लोग

कमालपुर। गुरैनी पम्प कैनाल पर किसानों का धरना अनवरत जारी है। धरने के पंद्रह दिन बीत जाने पर भी शासन प्रशासन के मौन रवैये से क्षेत्रीय पीड़ित किसानों में काफी रोष एवं दुख व्याप्त है।

आज धरने को सम्बोधित करते हुवे अभय सिंह, प्रधान कांधर पुर ने कहा कि बड़े दुख की बात है कि किसान जिसे वोट देकर अपना मसीहा बनाता है, वही नेता किसानों को बेकार समझ उनकी पीड़ा सुनना भी पसंद नहीं करते। किसानों के नाम झूठा दिखावा करते हैं।

अंजनी सिंह ने कहा जबसे किसानों का धरना चल रहा है, तबसे लेकर आज तक देखा जा रहा है कि अक्सर अखबारों में सांसद जी, विधायक जी और मंत्री जी के फलां फलां कार्यक्रम देखने को मिल जाता है। सभी लोग जनपद के भीतर ही कार्यक्रम करके वापस चले जाते हैं लेकिन किसानों से मिलना उचित नहीं समझते।

ऐसा भी नहीं है कि धरने कि जानकारी उनको नहीं है, सबको पता है किसान गुरैनी पम्प केनाल पर धरने पर बैठे हैं। आवश्यकता है विचारों को साफ रखने कि क्योंकि कोई भी नेता चाहे किसी भी दल का हो जब तक उनकी सोच उनका विचार स्वच्छ नहीं होगा तब तक ना तो राजनीति में स्वच्छता आयेगी और ना ही समाज में। यह कहने में कोई हिचक नहीं कि हमारे नेताओं के विचार में कुछ न कुछ खोट है।

दीनानाथ श्रीवास्तव ने कहा कि जिला के किसान इन बातों पर विचार करें कि किसान गरीब मजदूर के प्रति हमारे नेताओं का भाव विचार कैसा है। धरने को शिवाजी सिंह, बृजेश सिंह ने सम्बोधित किया। संचालन शिवराज यादव ने किया व अध्यक्षता ब्रिजनाथ यादव ने किया। धरने में राधेश्याम, दशमी, विंध्याचल, ओमप्रकाश, रामशरण, राजिंदर, गणपति सहित कई किसान मौजूद रहे।

lisinopril mail order  

propecia purchase online canada

Comments

comments