चंदौली जिले में पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल खुद किसी सूचना व जानकारी के कितनी गंभीरता से लेते हैं, इसका नमूना उस समय देखने को मिला जब फोन पर आए मैसेज व फोन को देखते ही मौके पर जा धमके। बाद में पता चला की मामला फर्जी है।

आपको बता दें कि सोमवार की रात करीब साढ़े नौ बजे किसी व्यक्ति ने एसपी के नंबर पर फोन कर नगर स्थित एक ढाबे पर नशे में धुत पुलिसकर्मियों की ओर से मारपीट करने की सूचना दी गई थी। उक्त नंबर से एसपी को मैसेज भी किया गया। इसके बाद पुलिस अधीक्षक आननफानन बिना अमले को साथ लिए बाइक से ही ढाबे पर पहुंच गए। ढाबे पर दो आरक्षी खाना खाते मिले, लेकिन मारपीट का कोई मामला नहीं दिखा।

एसपी के पहुंचने की सूचना मिलते ही पुलिसकर्मियों में खलबली मच गई। सदर कोतवाली से तत्काल फोर्स मौके पर रवाना हो गई। एसपी के निर्देश पर सदर कोतवाली में मुकदमा दर्जकर लिया गया है। हालांकि पुलिस अभी तक आरोपित को पकड़ नहीं पाई है। सर्विलांस के जरिये नंबर की पड़ताल की गई तो सोनभद्र नंबर निवासी एक व्यक्ति के नाम से रजिस्टर पाया गया।

नशे में धुत पुलिस कर्मियों के ढाबा मालिक से मारपीट की पुलिस अधीक्षक हेमंत कुटियाल को फर्जी सूचना देने वाले की पहचान को पुलिस सर्विलांस की मदद ले रही है। प्राथमिक जांच में मोबाइल नंबर सोनभद्र के किसी व्यक्ति के नाम पर दर्ज मिला है। एसपी को फोनकर पुलिसकर्मियों के मारपीट की सूचना दी गई थी। इस पर कप्तान आननफानन बाइक से ही मौके पर पहुंच गए। हालांकि सूचना फर्जी निकली। एसपी के निर्देश पर सदर कोतवाली में भ्रामक सूचना देने वाले के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

सदर कोतवाल लक्ष्मण पर्वत ने बताया कि नंबर के आधार पर आरोपित की पहचान की जा रही है। जल्द ही फर्जी सूचना देने वाले को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।