चन्दौली जिले के कमालपुर बहेरी गांव में शान्तिकुन्ज हरिद्वार के तत्वावधान में चार दिनों तक चलने वाले नौ कुण्डीय गायत्री महायज्ञ का मंगलवार के दिन यज्ञ के साथ समापन हो गया।

 

टोली नायक सुखदेव शर्मा ने कहा कि किसी भी देश को आगे बढ़ाने में महिलाओं का महत्वपूर्ण योगदान होता है। पुरुषों की अपेक्षा महिलाएं अत्यधिक धैर्य के साथ अपने कार्य को पूरा करती हैं।

 

यदि एक महिला पढी लिखी हो तो वह दो घरों में ज्ञान का प्रकाश फैलाती है। उन्होंने जोर देकर लोगों को गायत्री परिवार से जुड़ने और जोड़ने का आह्वान किया। यज्ञ के बाद शान्तिकुन्ज से आए प्रतिनिधियों को विदाई गीत के माध्यम से भावभीनी विदाई दी गई।

 

 

जाने से पहले उन्होंने यज्ञ में प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से सेवा और सहयोग देने वाले स्वयंसेवकों का उत्साहवर्धन किया, उनका धन्यवाद दिया। कुछ युवाओं को चन्दन तिलक के साथ अक्षत पुष्प की वर्षा करके जीवन में सदैव आगे बढ़ने का आशीर्वाद दिया। इस मौके पर  वृजराज  चौबे, अवध बिहारी सिंह, ध्रुव सिंह, राकेश सिंह, श्रवण यादव,टीपू सिंह, विनोद, डॉ वेद व्यास राय, रामविलास मौर्य, अमित, सुमन, कान्ति, बृजेश आदि उपस्थित थे।