चंदौली जिले के अमांव गांव में शुक्रवार को दोपहर सात वर्षीया संध्या की तालाब में डूबने से मौत हो गई। मौत की जानकारी मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। रोते बिखलते परिजन ग्रामीणों के सहयोग से शव का दाह संस्कार कर दिये। वहीं पुलिस घटना से पूरी तरह से अनभिज्ञता जाहिर की है।

अमाव गांव निवासी पीएन राम की पुत्री सात वर्षीय संध्या गांव के ही प्राथमिक विद्यालय में कक्षा तीन में पढ़ती थी। दोपहर करीब दो बजे वह तालाब की ओर खेलने चली गई। इस दौरान पैर फिसलने से तालाब में चली गई। काफी प्रयास के बाद ग्रामीणों ने बालिका को तालाब से निकाला। लेकिन तबतक काफी देर हो चुकी थी और बालिका ने दम तोड़ दिया था।

 

घटना की जानकारी होने पर आनन-फानन में रोते बिलखते परिजन पहुंचकर पास के निजी अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डाक्टर ने मृत घोषित कर दिया। पिता पीएन राम दहाड़े मारता रहा, वहीं मां रोते रोते बेहोश जा रही थी। आसपास की महिलाए उसे संभालने में लगी रहीं। थाना प्रभारी अवनीश कुमार राय ने पूछे जाने पर ऐसे किसी घटना से इंकार कर दिया।