चंदौली जिले के चकिया जिला संयुक्त चिकित्सालय में सोमवार को मायके से चार माह का बीमार मासूम को लेकर इलाज कराने आई विवाहिता पर भगवान ने दोहरी मार पड़ी। एक तरफ जहां मासूम की मौत हो गई, वहीं उसका पति अस्पताल पहुंचकर अपनी पत्नी पर ही बच्चे की जान ले लेने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया।

नौगढ़ थाना क्षेत्र के गोड़टूटवा गांव की 22 वर्षीया अनिता यादव की चकिया कोतवाली क्षेत्र के भीषमपुर गांव निवासी प्रताप यादव के साथ शादी हुई थी। दंपती को चार माह का बेटा था। 15 दिन पहले अनिता अपने बच्चे के साथ मायके गई थी। मायके में उसके बेटा बीमार हो गया। आसपास के चिकित्सकों से उपचार कराने के बाद स्थिति में सुधार नहीं हुआ। वह अपने पिता संग बच्चे को लेकर सोमवार को चकिया संयुक्त जिला अस्पताल पहुंची। चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया।

 

उसके पति प्रताप यादव को जानकारी हुई, तो भागे-भागे अस्पताल पहुंच गया। पत्नी पर सही ढंग से उपचार नहीं करने का आरोप लगाते हुए हंगामा मचाने लगा।