हिंदू युवा वाहिनी मना रहा था शौर्य दिवस, विस्फोट में झुलस गया कोतवाल का पैर

हिंदू युवा वाहिनी मना रहा था शौर्य दिवस, विस्फोट में झुलस गया कोतवाल का पैर

चंदौली जिले के चकिया कोतवाली क्षेत्र में शौर्य दिवस पर गुरुवार को चंदौली में हिंदू युवा वाहिनी के बैनर लगाने और चकिया में जुलूस के दौरान एक मस्जिद के पास हुए पटाखा विस्फोट में एसएचओ का पैर झुलसने से पुलिस प्रशासन में खलबली मच गई है। हालांकि दोनों मामलों में एक प्रकरण कुछ इस तरह का था जिसमें एसएचओ चर्चा विषय बन गए हैं।

 

चंदौली के श्रीराम जानकी शिव मठ मंदिर में उक्त संगठन ने अपना बैनर लगा दिया और बैठक करने लगे। इसका स्थानीय लोगों ने विरोध किया और पुलिस को सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस को देखते ही संगठन के लोगों में भगदड़ मच गई। पुलिस कर्मियों ने वहां से बैनर हटवा दिया और तीन लोगों को हिरासत में लिया। हालांकि कुछ देर बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

चकिया में शौर्य दिवस पर हिन्दू युवा वाहिनी, बजरंग दल समेत विभिन्न हिन्दू संगठन कार्यकर्ता शाम को नगर में जुलूस निकाल रहे थे। युवाओं ने जुलूस में बढ़चढ़ कर हिस्सेदारी निभाई। जुलूस में शामिल कार्यकर्ता नाचते गाते हुए आतिशबाजी कर रहे थे। सुरक्षा के लिहाज से कोतवाल अश्विनी कुमार चतुर्वेदी मय फोर्स साथ चल रहे थे। नगर भ्रमण के दौरान जुलूस जैसे ही एक मस्जिद के पास पहुंचा उत्साही कार्यकर्ताओं ने तेज आवाज का पटाखा चलाना चाहिए। कोतवाल के मना करने के बाद भी युवाओं ने पटाखा रखकर माचिस जला दी। कोतवाल ने दौड़कर पटाखे को पैर से नष्ट करने का प्रयास किया। तब तक पटाखा फूट गया।

इससे कोतवाल का दाहिना पैर झुलस गया। पैर झुलसते ही जुलूस में शामिल युवक भाग खड़े हुए। आनन फानन घायल कोतवाल को संयुक्त चिकित्सालय लाया। प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें वाराणसी ट्रामा सेंटर भेज दिया।

एसपी चंदौली बोले

पटाखा बुझाने में कोतवाल का पैर मामूली रूप से झुलस गया। वहां किसी की कोई गलती नहीं थी। चूंकि वे शुगर के पेसेंट हैं, इसलिए ऐतिहातन ट्रामा सेंटर भेज दिया गया।

Comments

comments