जसुरी में कच्छा बनियान गिरोह ने बोला धावा, तो पुलिस ने कहा सामान्य चोरी

जसुरी में कच्छा बनियान गिरोह ने बोला धावा, तो पुलिस ने कहा सामान्य चोरी

चंदौली। जिला मुख्यालय से महज एक किमी. दूर जसुरी गांव में मंगलवार को आधी रात में कच्छा बनियान गिरोह का कहर बरपा है। बदमाशों ने एक रात में चार घरों को निशाना बनाकर सात लाख की नकदी, जेवरात समेत करीब 27 लाख की संपत्ति समेट ले गए हैं। घटना के वक्त एक महिला जगी तो कच्छा पहने दो युवकों को देख चीखने लगी तो बदमाश उसपर हमला करते भाग निकले। पुलिस छानबीन को पहुंची तो महिला के बयान ने नींद उड़ा दी। हालांकि, इंस्पेक्टर ने कच्छा बनियान गिरोह के होने की बात को सिरे से खारिज कर दिया है। बहरहाल, सच्चाई चाहे जो हो इलाके में दहशत व्याप्त है।

बताया जा रहा है कि रात में करीब सवा दो बज रहे होंगे। जसुरी गांव गोरख के परिवार की महिला संजू के पुत्र की नींद टूट गई। संजू बेटे को सुलाने की कोशिश कर रहीं थी। उसी दौरान उनकी नजर कच्छा पहने दो अनजान युवकों पर पड़ी तो चीखने चिल्लाने लगीं। हो-हल्ला मचा तो संजू पर ईंट से प्रहार करते बदमाश भाग निकले। परिवार के लोग जगे तो जानकारी हुई कि बैग में रखे 60 हजार की नकदी एवं जेवरात नदारद थे। ईंट के प्रहार से महिला एवं उसका पुत्र संकल्प भी जख्मी हो गया।

सुबह जाग हुई तो गांव के ही सपा नेता अशोक त्रिपाठी उर्फ छोटी तिवारी के घर में चोरी की जानकारी हुई। बदमाश नीम के पेड़ के सहारे पीछे से घर में घुस गए। कमरों में सो रहे लोगों को बाहर से बंद कर दिया। कमरों के अंदर रखी आलमारी व बक्सों को खंगाला। 90 हजार रुपये नकदी, सोने की आठ चूड़ी, सोने का दो हार, सोने की पांच सिकड़ी, सोने की 13 अंगूठी व अन्य कीमती सामान लेते गए। लाखों की चोरी से परिजन परेशान थे कि निकट के रामदवर पासवान के घर में कहर बरपने की जानकारी मिली। बदमाशों ने रामदवर के घर से 50 हजार नकदी के अलावा कर्णफूल, पायल, अंगूठी, झुमका चुरा ले गए।

गांव के ही बृजेश सिंह डिम्पू के घर से साढ़े चार लाख रुपये नकदी के अतिरिक्त आठ लाख रुपये के सोने-चांदी के आभूषण उठा ले गए। अलसुबह चोरी की ताबड़तोड़ चार मामले सामने ग्रामीणों की भारी भीड़ जमा हो गयी। पुलिस व फारेंसिक जांच दल, क्राइम ब्रांच व डाग स्क्वायड संग पहुंच कर चारों घरों में बिखरे पड़े सामानों के हालात का जायजा किया, नमूने एकत्रित कर आगे की कार्रवाई में जुट गई।

इंस्पेक्टर आरके ओझा ने बताया कि कच्छा बनियान गिरोह नहीं हो सकता है। घटना चोरी की है, भुक्तभोगियों की तहरीर पर जांच की जा रही है। जल्द ही इसका खुलासा किया जाएगा।

Comments

comments