लेखपालों की सरकार को खुली चेतावनी, किसी भी दबाव में नहीं झुकेंगे हम लोग

लेखपालों की सरकार को खुली चेतावनी, किसी भी दबाव में नहीं झुकेंगे हम लोग

चंदौली। जिले में अपनी आठ सूत्रीय मांगों के समर्थन में सोमवार को जनपद के लेखपालों ने जिला मुख्यालय पर धरना- प्रदर्शन किया। सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की।

अपनी मांगों में वेतन उच्चीकरण के साथ ही ई-डिस्ट्रिक्ट समेत अन्य तकनीकी कामकाज को सुचारू रूप से सम्पादित करने के लिए लैपटॉप व स्मार्टफोन दिए जाने की मांग की। कहा लेखपाल वेतन विसंगतियों से जूझ रहे हैं। बावजूद इसके सरकार हाथ पर हाथ धरे हुए है। हम सरकार के किसी दबाव में काम नहीं करेंगे। चेताया मांगें पूरी होने तक कलमबंद हड़ताल जारी रहेगी।

इस दौरान वासुदेव यादव, मानवेंद्र प्रकाश, चंदन यादव, चंद्रभान सिंह, रामजी, दिलीप कुमार, सुजीत, त्रिलोकी नाथ, बजरंगी, भोलाशंकर, गुलाब आदि उपस्थित थे। अध्यक्षता सियाराम व संचालन लोकेश कुमार द्विवेदी ने किया।

बस्ता नहीं जमा करने पर एफआइआर की धमकी

सकलडीहा में प्रदेश सरकार का निर्देश मिलते ही डीएम ने लेखपालों को बस्ता जमा करने का फरमान जारी कर दिया है। सोमवार को एसडीएम आशीष कुमार ने धरनारत लेखपालों को बस्ता जमा करने का निर्देश दिया। चेताया कि बस्ता जमा न करने पर लेखपालों के खिला़फ प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

लेखपाल कई दिनों से आठ सूत्रीय मांगों के क्रम में कलमबंद बहिष्कार कर धरनारत हैं। इससे आय, जाति व निवास प्रमाणपत्र सहित अन्य राजस्व के कार्य लंबित हैं। प्रमाणपत्रों सहित समाधान दिवसों पर पड़ने वाले मामलों के निस्तारण में काफी असुविधा सामने आ रही है। इसका प्रतिकूल प्रभाव विद्यालयों में प्रवेश व प्रतियोगी परीक्षाओं के फॉर्म भरने वाले छात्रों के भविष्य पर पड़ रहा है। सोमवार को डीएम के निर्देश पर एडीएम बच्चालाल ने लेखपालों को जल्द से जल्द बस्ता जमा करने निर्देश जारी किया गया। एसडीएम ने बस्ता न जमा करने पर प्राथमिकी दर्ज कराने की चेतावनी दी।

Comments

comments