कहते हैं कि अपनी शादी को यादगार बनाने के लिए दूल्हा दुल्हन तरह तरह की योजना बनाते रहते हैं। एक ऐसी ही योजना एक रेलकर्मी के बेटे ने अपनी शादी के लिए बना रखी है।

चंदौली के सेवानिवृत्त रेलकर्मी ने अपने बेटे की शादी को यादगार बनाने के लिए दुल्हन की विदाई हेलीकॉप्टर से कराने का फैसला किया है। दूल्हा भी हेलीकॉप्टर से ही शादी के लिए जाएगा। इसके लिए दूल्हे और दुल्हन के गांव में हेलीपैड तैयार किया जा रहा है। इस शादी को लेकर क्षेत्र के लोगों में काफी चर्चा है।

बताया जा रहा है कि नियामतबाद ब्लॉक के हृदयपुर गांव के निवासी पहलवान लालचंद्र यादव रेलवे के फीटर पद से रिटायर हुए हैं। लालचंद के तीन बेटों में सबसे छोटा धर्मेंद्र यादव की 23 मई को धानापुर के ओडवौला गांव निवासी रामवृक्ष यादव की बेटी ममता से शादी तय हुई है। धर्मेंद्र पढ़ाई पूरीकर पिता के साथ स्कूल संचालन में हाथ बंटाता है।

पिता रामवृक्ष यादव की तमन्ना रही कि उनके बेटे की बारात हेलीकॉप्टर से जाए और दुल्हन की विदाई भी उड़न खटोले से भी हो। पिता की इच्छा को पूरा करने के लिए मझले बेटे चंद्रशेखर यादव ने पहल की। चंद्रशेखर यादव ने बताया कि 23 मई की दोपहर लगभग 12 बजे दिल्ली से हेलीकॉप्टर उड़ान भरकर शाम लगभग चार बजे हृदयपुर गांव पहुंचेगा।

यहां से दुल्हा धर्मेंद्र व परिवार के कुछ सदस्य हेलीकॉप्टर से कन्या पक्ष के यहां पहुंचेंगे। दोनों जगह पर हेलीपैड बनेगा। उन्होंने बताया कि दोनों जगहों पर हेलीकॉप्टर उतरने के लिए जिला प्रशासन से अनुमति मिल चुकी है।