और जब CMO पर नाराज हो गए मृत्युंजय कुमार नारायण, जाने क्या था मामला..!

और जब CMO पर नाराज हो गए मृत्युंजय कुमार नारायण, जाने क्या था मामला..!

चंदौली जिले में आए मुख्यमंत्री के सचिव मृत्युंजय कुमार नारायण ने बुधवार को कलेक्ट्रेट सभागार में चन्दौली व सोनभद्र के अधिकारियों संग नीति आयोग व विकास कार्यों की समीक्षा बैठक की। किसानों की आय दोगुना करने को जिलों में चलाई जा रही योजनाओं की जानकारी ली। महत्वाकांक्षी प्रोजेक्ट ‘आयुष्मान भारत’ और किसानों की आय बढ़ाने पर चर्चा की। अधिकारियों ने कहा कि किसानों की आय बढ़ाने को समन्वय बनाकर कार्य किया जा रहा। आयुष्मान भारत, राष्ट्रीय पोषाहार मिशन और मिशन इंद्रधनुष जैसी योजनाओं को पूरी मेहनत व ईमानदारी से अन्तिम पायदान पर बैठे व्यक्ति तक पहुंचाने का निर्देश दिया।

मुख्य चिकित्साधिकारी डा. पीके मिश्र को एजेंडा के अनुरूप जानकारी न देने पर नाराजगी व्यक्त की। हिदायत दी अगली बैठक में एजेंडा में बिन्दुवार तैयारी के साथ आएं। चिकित्सकों, दवाओं की उपलब्धता की जानकारी ली। उपस्थिति शत प्रतिशत हो। निरीक्षण में अनुपस्थित मिलने वाले चिकित्सकों पर विभागीय कार्रवाई करें। सीएचसी, पीएचसी पर दवाओं की उपलब्धता को आनलाइन करें। बेबी वेईंग मशीन को जल्द से जल्द क्रय कराने की हिदायत दी।गर्भवती महिलाओं का पंजीयन कराकर समय-समय चेकअप आशा एएनएम करें।

 

जिला कार्यक्रम अधिकारी को कहा गर्भवती महिलाओं में शत-प्रतिशत पुष्टाहार वितरित हो। मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिया आंगनवाड़ी केंद्रों का औचक निरीक्षण कर हाल जानें। कागजों पर पुष्टाहार वितरित करने वाले के खिलाफ कठोर कार्रवाई करें।

 

डीडी कृषि को कहा कि गोष्ठी के माध्यम से किसानों को नई तकनीकी बताएं। किसानों की आय दोगुनी करने को केसीसी कार्ड जानकारी दें।

 

किसानों को मृदा परीक्षण करने के लिए प्रेरित किया जाय। अधिशासी अभियन्ता विद्युत को सौभाग्य योजना अंतर्गत 31 दिसम्बर तक जनपद में लक्ष्य के सापेक्ष विद्युतीकरण का कार्य पूर्ण कराएं। रोस्टवार विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाय। कौशल विकास मिशन पर डीएम ने कहा छह रोजगार मेले हो चुके हैं इसमें 5652 व्यक्तियों को रोजगार दिया गया।

बैठक में जिलाधिकारी सोनभद्र अमित कुमार सिंह, मुख्य विकास अधिकारी सुनील कुमार, मुख्य विकास अधिकारी डा. अभय कुमार श्रीवास्तव समेत सभी जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद थे।

Comments

comments