बढ़ते एनपीएस (नन परफार्मिंग एसेट) से मुक्ति के लिए काशी गोमती संयुत ग्रामीण बैंक ने विशेष ऋण मुक्ति योजना की शुरूआत की है। इसके तहत न्यूनतम 15 से 35 प्रतिशत तक छूट के साथ खाता धारक पुराना ऋण जमा कर सकता है। केसीसी ऋण वाले ऋण का धन जमा करके तुरंत नया लोन भी ले सकते हैं।

सोमवार को नगर के अलीनगर स्थित रिजनल कार्यालय में पत्रकारों को जानकारी देते हुए क्षेत्रीय प्रंबधक प्रमोद कुमार सिंह ने बताया कि इस योजना से ऋण लेने वालों को कई तरह के फायदे होंगे। सिमित अवधि के ‌लिए बैंक की ओर से यह योजना चलाई गई है। बताया कि पूरे जिले में लगभग छह हजार कर्ज लेने वालों पर 68.4 करोड़ रुपये हैं। इसे एनपीए घोषित किया जा चुका है।

 

इस योजना के तहत एनपीए तिथि के अनुसार सुरक्षित ऋण (ऐसे ऋण जिसके बदले कुछ बंधक रखा गया है) पर न्यूनतम 15 प्रतिशत और असुरक्षित ऋण पर 35 प्रतिशत की छूट दी जा रही है। एनपीए के बाद का ब्याज भी माफ होगा। यही नहीं किसान क्रेडिट कार्ड धारक छूट के साथ ऋण जमा करने के साथ ही नया लोन ले सकते हैं।

इसके साथ ही बताया कि बैंक की ओर से ऋण लेने वालों को नोटिस भेजकर भी बताया जा रहा है कि ऋण अदा करने पर उन्हें कितनी छूट मिलेगी। यही नहीं गांवों में वाहनों के माध्यम से प्रचार प्रसार किया जा रहा है। इस मौके पर ताराजीवनपुर शाखा प्रबंधक इंद्रजीत सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक वसूली अर्जुन त्रिपाठी रहे।