उत्तर प्रदेश सरकार के पयर्टन मंत्री नीलकंठ तिवारी ने सोमवार को राजदरी-देवदरी पर्यटक स्थल का निरीक्षण किया। उन्होंने वन विभाग को पर्यटक स्थलों को विकसित करने के लिए जल्द प्रस्ताव बनाकर भेजने के निर्देश दिया। पर्यटन मंत्री के चकिया प्रथम आगमन पर नपं चेयरमैन अशोक बागी ने नगर पंचायत कार्यालय के बाहर गाजे-बाजे के साथ स्वागत किया। चेयरमैन ने पर्यटन मंत्री को स्वच्छता ही सेवा के प्रतीक स्वरूप स्मृति चिह्न भी दिया।

पर्यटन मंत्री ने राजदरी-देवदरी में निरीक्षण के दौरान काशी वन्य जीव प्रभाग द्वारा पूर्व में लगभग 6 करोड़ के विकास कार्य से संबंधित भेजे गए प्रस्ताव (डीपीआर) को देखते हुए स्थलीय निरीक्षण किया। इसमें देवदरी जल प्रपात को विकसित करने, राजदरी में चिल्ड्रेन पार्क, फाउंटेन, सेल्फी प्वांइड, काटेज और पेयजल की उचित व्यवस्था कराने का निर्देश दिया।

पर्यटन मंत्री ने बताया कि राजदरी-देवदरी के विकास के लिए वन विभाग के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी गई है। जल्द ही यूपी के नक्शे में राजदरी पयर्टक स्थल अपनी अलग पहचान बनाएगा। इस मौके पर चंद्रप्रभा रेंजर बृजेश पांडेय, चकिया रेंजर अकबाल बहादुर सिंह, आशुतोष सिंह, वैभव राय, नरेंद्रनाथ द्विवेदी, वैभव मिश्रा, गुरूदेव चौहान, जंगबहादुर पटेल, संजू पटेल, बबलू खान, डॉ. कैलाशनाथ दूबे आदि मौजूद रहे।