मुगलसराय में अब बनेगा स्मार्ट यार्ड, इस पर खर्च होगा 32 करोड़

मुगलसराय में अब बनेगा स्मार्ट यार्ड, इस पर खर्च होगा 32 करोड़

रेलवे के डाउन यार्ड में मालगाड़ियों के वैगन मरम्मत के लिए रेल प्रशासन 32 करोड़ रुपये खर्च कर रहा है। इसमें रेट पटरी से लेकर आधुनिक मशीनें मंगाई जााएगी। ताकि गुजरने वाली डैमेज मालगाड़ियों का कम समय व बेहतर ढंग से मरम्मत किया जा सके। रेल प्रशासन स्मार्ट यार्ड बनाने की तैयारी करने में जुटा है। इससे निर्धारित समय में काम पूरा हो सकें।

मुगलसराय रेलवे स्टेशन से लगभग दो से अधिक संख्या में मालगाड़ियों का आवागमन होता है। वही लगभग 40 से 50 मालगाड़ी के रखने की व्यवस्था यार्ड में है। वहीं मालगााड़ियों के आवागमन के दौरान मालगाड़ी के वैगन डैमेज होते रहते हैं। इससे काफी फजीहत होती थी। हालांकि उक्त मालगाड़ियों का मरम्मम कार्य डाउन सिंक लाइन में किया जाता है। लेकिन आधुनिक व्यवस्था न होने के कारण काफी समय लगता था। इससे काफी नुकसान होता था।

रेल प्रशासन इसमें आधुनिक तरीके से सुधार करने पर बल देने में जुटा है। इस क्रम में डाडन यार्ड में स्मार्ट यार्ड बनाने में जुटा है। इस दौरान रेल पटरी, इलेक्ट्रीक आदि पर छह करोड़ खर्च कर रहा है। इसके अलावा आधुनिक मशीन जो विदेश से मंगाई जाएगी। इसके लिए 26 करोड़ रुपये खर्च होगा। आधुनिक मशीनों के लग जाने से मालगाड़ी के डैमेज वैगनों के मरम्म्त कार्य काफी कम समय में पूरा कर लिया जाएगा।

सीनियर डीएमई श्रवण कुमार ने बताया कि रेलवे बोर्ड के निर्देश व मंडल रेल प्रबंधक पंकज सक्सेना के कुशल नेतृत्व में स्मार्ट यार्ड बनाया जा रहा है। स्मार्ट यार्ड बनकर तैयार हो जाने पर रेलवे की अच्छी खासी आमदनी बढ़ने के साथ ही कम समय में मालगाड़ी के वैगनों का मरम्मत कार्य पूरा हो जाएगा।

Comments

comments