चंदौली जिले में जारी बरसात से एक के बाद एक कई हादसे हुए, जिसमें दो लोगों की मौत हो गई तथा कई घायल बताए जा रहे हैं…।

सकलडीहा तहसील के पौरा गांव में गुरुवार को कच्चे मकान के मलबे में दबकर एक ही परिवार के पांच लोग गंभीर रूप से घायल हो गये। हालत गंभीर होने पर सकलडीहा सीएचसी से जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। लगातार बारिश के चलते कच्चे मकानों के ढहने का क्रम जारी है। गुरुवार की सुबह पौरा गांव के स्व. भृगुनाथ की पत्नी आशा देवी (60), पुत्र ऋषि (24), उसकी पत्नी रेखा (22) एवं दो बच्चे संध्या (5) व रिटू (8) के साथ खाना खा रही थीं। इसी बीच अचानक मकान ढह गया। आस-पास के लोगों ने काफी प्रयास के बाद मलबे में दबे लोगों को बाहर निकाला।

 

सूचना के घंटों बाद भी एंबुलेंस के नहीं पहुंचने पर ग्रामीण उन्हें सकलडीहा सीएचसी ले आए। हालत गंभीर होने पर चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। एसडीएम विजय नारायण सिंह ने बताया सभी घायल खतरे से बाहर हैं। पीड़ित परिवार को मुआवजा दिया जाएगा।

अलीनगर थाना के कुछमन गांव में बुधवार की रात मिट्टी की दीवार गिरने से दंपती की मौत हो गई, जबकि पौत्र घायल हो गया। घायल किशोर का इलाज बीएचयू के ट्रामा सेंटर में चल रहा है। एसडीएम ने मृतकों के परिजनों को चार-चार लाख मुआवजा दिलाने का आश्वासन दिया है।

कुछमन गांव निवासी मिठाईलाल पासवान (70) पत्नी कस्तूरबा (65) व पौत्र सतीश (16) के साथ बुधवार की रात खाना खाने के बाद मड़ईनुमा घर में सोए थे। देर रात तेज बारिश के चलते मिट्टी की दीवार ढह गई। मलबे में दबकर कस्तूरबा की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि मिठाई लाल व सतीश गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों की चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे परिजनों व ग्रामीणों ने किसी तरह घायलों को मलबे से बाहर निकाला।

सूचना के बाद एएसपी प्रेमचंद, सीओ सदर त्रिपुरारी पांडेय, एसओ बृजेशचंद्र त्रिपाठी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने शव को कब्जे में लेने के साथ ही घायलों को एंबुलेंस से जिला अस्पताल भेजा। यहां हालत गंभीर देख चिकित्सकों ने ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया। वाराणसी ले जाते समय रास्ते में ही मिठाईलाल ने दम तोड़ दिया, जबकि सतीश का इलाज चल रहा है।

एसडीएम विजय प्रताप सिंह ने परिजनों को मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष से चार-चार लाख रुपये आíथक सहायता दिलाने का भरोसा दिलाया। उन्होंने कहा दुख की घड़ी में जिला प्रशासन पीड़ित परिवार के साथ है। कोटेदार को परिवार को खाद्यान्न आदि मुहैया कराने का निर्देश दिया।

इसके अलावा एक और घटना जसूरी गांव में हुई। कच्चा मकान गिरने से मलबे में दबकर रुक्मिणी (65) व पनारू (22) घायल हो गए। घायलों का जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। इसके अलावा कामेश्वर पासवान का भी कच्चा मकान ढह जाने से पीड़ित परिवार खुले आसमान के नीचे आ गया है।