थाना नौगढ़ अन्तर्गत 02 दिन पूर्व हुए गाड़ी खड़ी करनें को लेकर मामूली विवाद का कतिपय समाचार चैनलों/बेव पोर्टलों सहित अन्य द्वारा सनसनीखेज असत्य खबरें बनाकर प्रचारित व प्रसारित किये जाने का आरोप लगाते हुए खण्डन किया है। इसके लिए पुलिस के पीआरओ ने एक विज्ञप्ति जारी की है और भाई द्वारा दर्ज कराई शिकायत को भी गलत बताा है।

यह है विज्ञप्ति

आप सब मीडिया बन्धुओं को अवगत कराना है कि कुछ लोगों द्वारा थाना नौगढ़ बाजार अन्तर्गत घटित गाड़ी में धक्का लगने/खड़ी करने करने को लेकर हुए दो पक्षों में मारपीट की घटना को ब्रेकिंग करके गलत तरीके से अपहरण/लूट जैसे शब्दों के प्रयोग से सनसनी बनाकर भ्रामक व असत्य खबर प्रचारित/प्रसारित किया जा रहा है। उक्त सम्बन्ध में वास्तविक तथ्य ये हैं कि दिनांक 12/10/2019 को थाना नौगढ़ बाजार में दो पक्षों में मारपीट हुई थी। उक्त सम्बन्ध में प्रथम पक्ष द्वारा थाना नौगढ़ पर तहरीर दी गयी जिसपर समुचित धाराओं में अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक विधिक कार्यवाही की जानें लगी, जब इस बात की खबर दूसरे पक्ष को लगी तो उन्होंने भी अपनी तहरीर थाना नौगढ़ पर दी जिस पर भी अभियोग पंजीकृत कर आवश्यक विधिक कार्यवाही की जानें लगी।

अब तक के जांच पड़ताल से ज्ञात हुआ है कि घटना मात्र आपसी विवाद का है जिसमें नौगढ़ बाजार में मारपीट दोनों पक्षों के बीच हुई जिसे वहां मौजूद अनेकों लोगों ने देखा, घटना के वक्त किसी भी पक्ष के साथ कोई महिला नहीं थी तथा दूसरे पक्ष द्वारा दिये गये तहरीर में अपनी बहन की विदाई कराकर साथ लाने की बात भी असत्य पायी गयी क्योंकि उसकी बहन काफी समय से अपनें मायके में ही रह रही है।

उक्त उभय पक्षों द्वारा दिये गये तहरीर पर पंजीकृत अभियोगों की जांच-पड़ताल ज़ारी है तथा गुण-दोष के आधार पर बाद जांच आवश्यक वैधानिक कार्यवाही की जाएगी।

अतः आप सब उक्त के सम्बन्ध में किसी भी प्रकार के गलत तथ्य प्रचारित व प्रसारित न करें।

मीडिया सेल…जनपद चन्दौली