कांसेप्ट फोटो

चंदौली जिले के नौबतपुर में दलालों की एक बार फिर से चांदी हो गई है। जैसे ही कर्मनाशा नदी के क्षतिग्रस्त एनएच पुल के समीप बनाए गए रूट डायवर्जन से 12 जनवरी की शाम से आवागमन शुरू हुआ उन्होंने अपनी सेटिंग गेटिंग शुरू कर दी है। चर्चाओं में बताया जा रहा है कि देर रात दर्जनों की संख्या में बालू लदे ओवरलोड ट्रकों को पास कराया गया।

चर्चा करने वाले सूत्रों की मानें तो रात में बिहार से दर्जनों ओवरलोड वाहनों को यूपी में प्रवेश कराया गया और ट्रक चालक सैयदराजा नगर के आसापास कई स्थानों पर बालू उतारते नजर आए।

कहा जा रहा है कि सीमा पर भारी वाहन पास कराने वालों के गिरोह डायवर्जन पुल से ओवरलोडेड ट्रकों को भी पास कराने लगा है, जिससे 40 से 60 टन तक लोड वाले अंडरलोड वाहनों को गुजारने का प्रशासन का दावा केवल हवा-हवाई दिख रहा है। इसमें कुछ लोगों की मिलीभगत से ऐसा खतरनाक काम किया जा रहा है।

आपको बता दें कि  ओवरलोड वाहनों के कारण एनएच पुल टूटने के बाद हाईवे पर आवागमन ठप हो गया था। क्षतिग्रस्त पुल के दोनों तरफ रूट डायवर्जन का निर्माण कराया जा रहा है। एक तरफ का डायवर्जन बनकर तैयार हो गया है। इससे वाहनों का आवागमन शुरू हो गया है। 12 जनवरी की रात बिहार की तरफ से वाहनों को यूपी की सीमा में भेजा गया। देर रात यूपी के वाहनों को बिहार भेजा गया। आवागमन शुरू होने की भनक लगते ही बालू माफिया व दलाल सीमा पर सक्रिय हो गए।