मुगलसराय की महिला को बंधक बनाकर रेप, जेल गए मंदिर के महंत कृष्णकांताचार्य

मुगलसराय की महिला को बंधक बनाकर रेप, जेल गए मंदिर के महंत कृष्णकांताचार्य

चंदौली जिले के मुगलसराय की एक महिला से रेप के आरोप में रामपैड़ी पर स्थित चन्द्रहरि महादेव मंदिर के महंत कृष्णकांताचार्य को मंगलवार को 14 दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया। इससे पहले संत मोरारी बापू की ओर से आयोजित रामकथा के श्रवण के लिए मुगलसराय से आई एक महिला ने मंदिर के महंत पर कई दिनों से बंधक बनाकर दुष्कर्म का आरोप लगाया था।

मामले पर जानकारी देते हुए अयोध्या कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक जगदीश उपाध्याय ने बताया कि सोमवार देर रात महिला ने 100 नम्बर पर फोन कर स्वयं बंधक बनाए जाने की जानकारी दी थी।  इसके बाद पुलिस ने मामले पर कार्रवाई करते हुए मंदिर के महंत कृष्णकांताचार्य को हिरासत में लिया था।

कोतवाल ने बताया कि महिला जिस कमरे में मौजूद थी, उसका ताला बाहर से बंद था। ताला खोलकर महिला को बाहर निकाला गया तो उसने पूरी कहानी सुनाई। कोतवाल के अनुसार मुगलसराय निवासिनी महिला को उसके पति ने छोड़ दिया है इससे वह डिप्रेशन में थी। वह मुगलसराय से 24 दिसम्बर को अयोध्या आई थी।

 

 

स्टेशन पर उसने आटो चालक ने आवास दिलवाने के नाम पर उसे चन्द्रहरि मंदिर पहुंचाया था। महिला दो दिन संत मोरारी बापू की कथा सुनने भी गई। 26 दिसम्बर की रात महंत कृष्णकांताचार्य ने उससे जबरन दुष्कर्म किया। जब महिला भागने लगी तो उसे बंधक बना लिया। महिला की ओर से मुकदमा दर्ज कराए जाने के बाद पुलिस ने रात में ही महंत को हिरासत में ले लिया था।

 

 

मंगलवार को एसीजेएम प्रथम की अदालत में पेश किया गया जहां से महंत को 14 दिन के न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया गया। उधर पीड़िता का जिला अस्पताल में मेडिकल कराया गया।

Comments

comments