बृजेश सिंह के सामने सिकरौरा हत्याकांड के समय तैनात दारोगा अमरेंद्र वाजपेयी का बयान दर्ज

बृजेश सिंह के सामने सिकरौरा हत्याकांड के समय तैनात दारोगा अमरेंद्र वाजपेयी का बयान दर्ज

चंदौली। जिले के चर्चित सिकरौरा नरसंहार कांड मामले में बुधवार को अभियोजन पक्ष के एक और गवाह सेवानिवृत्त दारोगा अमरेंद्र वाजपेयी का बयान दर्ज किया गया। विशेष न्यायाधीश (गैंगस्टर एक्ट) राजीव कमल पांडेय की अदालत में चल रहे इस मुकदमे में पिछली तारीख पर हाजिर न होने पर अदालत ने दारोगा के खिलाफ वारंट जारी कर रखा था।

इस दौरान इस मामले में आरोपित एमएलसी बृजेश सिंह को भी पुलिस की कड़ी सुरक्षा घेरे मे शिवपुर सेंट्रल जेल से लाकर अदालत में पेश किया गया । मुकदमे की सुनवाई के दौरान अभियोजन पक्ष की ओर से प्रभारी डीजीसी मुन्ना लाल यादव ने गवाह का बयान दर्ज कराया।

इसके बाद बचाव पक्ष के अधिवक्ता दीनानाथ सिंह ने गवाह से जिरह की। न्यायालय की समयावधि तक जिरह की कार्रवाई पूरी न होने पर न्यायाधीश ने जिरह को जारी रखते हुए 13 जुलाई की तिथि मुकर्रर कर दी। मुकदमे में अगली तिथि नियत होने पर आरोपित को लेकर पुलिस अदालत से चली गई।

आपको बता दें कि 9 अप्रैल 1986 की आधी रात में बलुआ थाना क्षेत्र के सिकरौरा गांव में तत्कालीन ग्राम प्रधान रामचंद्र यादव और उसके परिवार के सात लोगों की हत्या कर दी गई थी। घटना के समय दारोगा अमरेंद्र वाजपेयी बलुआ थाने में तैनात थे।

Comments

comments