योगी जी आपके अधिकारियों ने मनमाने तरीके के गिरा दिया आशियाना..किससे करें फरियाद

चकिया। वैसे तो दावा किया जाता है कि केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार गरीबों व पिछड़ों की हितैसी है और हमेशा पीड़ितों की मदद की जाती रहती है। तभी तो जिले में जहां एक ओर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद गरीबों को कंबल बांटकर सरकार के गरीबों की हितैसी होने का दावा कर रहे थे तो वहीं चकिया तहसील की टीम एक गरीब का घर भाजपा नेता के दबाव में उजा़ड़ रही थी।

tehsil officers, broken poor house, poor family house, without any order, योगी जी के अफसर, मनमाने तरीके के गिरा दिया मकान, किससे करें फरियाद, चकिया तहसील, Chakiya News, Chakiya tehsil News, Chakiya block News,  चकिया न्यूज, चकिया समाचार, चकिया की खबरें, चकिया ब्लाक, चकिया तहसील, chandauli samachar, chandauli news, chandauli live, chandauli update news, chandauli online, chandauli breaking, Big News of chandauli, Breaking news of chandauli, khabar chandauli, Top news of chandauli, चंदौली समाचार, चंदौली अपडेट न्यूज, चंदौली न्यूज, चंदौली लाइव, चंदौली ऑन लाइन, चंदौली ब्रेकिंग, चंदौली की खबरें, चंदौली टॉप न्यूज,

यह मामला देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह की पैतृक तहसील चकिया के दिरेहु गांव का है, जहां बिना किसी नोटिस और सूचना के वृद्ध दम्पत्ति रामजग सिंह व पत्नी लालती देवी का पक्का रिहायसी निर्माण को उपजिलाधिकारी चकिया ने जेसीबी मशीन से उनकी आखों के सामने ध्वस्त कर दिया। घर में अकेले रह रहे वृद्ध दम्पत्ति सरकारी मुलाजिमों के सामने चिल्लाते रहे लेकिन कोई उनकी पीड़ा किसी ने नहीं सुनीं।

सबसे बड़ी बात यह है कि पीड़ित मकान तोड़ने के लिए किस अधिकारी का आदेश है..यह सरकारी टीम से मंगाते रहे लेकिन कोई आदेश भी उनको नहीं दिखाया गया।

कहा जा रहा है कि रकबा नंबर 195 में आपसी पड़ोसियों का विवाद है जिसका मुकदमा सिविल कोर्ट में विचाराधीन है..ऐसी हालत में वहाँ सरकारी जमीन कैसे इनको दिखाई देने लगी।

मामले पर उपजिलाधिकारी चकिया से बात की गई तो उन्होंने मौके पर जाने से इनकार करते हुए बताया कि तहसील की टीम तालाब के अवैध निर्माण को हटाने के लिए गई थी बाकि उनको कोई जानकारी नहीं है और मोबाईल पर हो रही वार्तालाप को रोकते हुए कॉल को काट दिया।

पीडित का आरोप है कि इस जमीन को कब्ज़ा करने के लिए ग्राम प्रधान के इशारे पर निर्माण को तोड़ा गया है, जबकि इस पर मेरा 15 से 20 वर्षों से कब्जे के साथ पक्का निर्माण व पेड़ भी लगे हैं।

बताया जा रहा है कि पीड़ित की पुत्री दिल्ली में नौकरी करती है और पीड़ित परिवार अकेल यहां रहता है। मौके से पीड़ित ने न्याय के लिये उच्चस्तरीय जाँच की मांग करते हुए जिलाधिकारी से भी दूरभाष पर न्याय की गुहार भी लगाई है।

chandauli samachar, chandauli news, chandauli live, chandauli update news, chandauli online, chandauli breaking, Big News of chandauli, Breaking news of chandauli, khabar chandauli, Top news of chandauli, चंदौली समाचार, चंदौली अपडेट न्यूज, चंदौली न्यूज, चंदौली लाइव, चंदौली ऑन लाइन, चंदौली ब्रेकिंग, चंदौली की खबरें, चंदौली टॉप न्यूज

Comments

comments