नौबतपुर के पास यूपी-बिहार बार्डर को जोड़ने वाले चार लेन के पक्के पुल के खराब हो जाने के कारण भारी वाहनों का आवागमन ठप हो गया और छोटे सवारी वाहनों को नदी पर बने पुराने पुल से पास कराया जा रहा हैं। वहीं आवागमन को सुचारू रूप से चालू करने के लिए पक्के पुल के उत्तरी लेन पर गिट्टी डालने का काम मंगलवार को शुरू हो गया। वहीं दक्षिणी लेन पर पाइप बिछाकर बोरियों में बालू और मिट्टी भरकर उसे समतल किया जा रहा है। उम्मीद है कि उत्तरी लेन इसी सप्ताह चालू कर दिया जाएगा।

गौरतलब है कि 28 दिसंबर से पक्के पुल से आवागमन ठप है और नदी पाइप डालकर 29 दिसंबर से डायवर्जन पुल का निर्माण तेजी से किया जा रहा है। मंगलवार तक पुल के उत्तरी लेन के पुल कार्य लगभग 80 प्रतिशत कर लिया गया है। उस पर गिट्टी-मिट्टी डालकर रोलर से समतल करने का कार्य चल रहा है। पुल के किनारे मिट्टी भरकर किनारे रखा जा रहा है जिससे मिट्टी खिसके नहीं। वहीं दक्षिण तरफ नदी में पूरी पाइप बिछा ली गई है।

एनएचएआई के टेक्निकल मैनेजर नागेश सिंह ने बताया कि अगर पानी का बहाव कम होता तो रोड बनाकर गाड़ी चलाने का आदेश दे दिया जाता। लेकिन बहाव होने के कारण एक लेन चालू करने में दो दिन का समय लगेगा। बताया कि रोड अलकतरा व गिट्टी बिछाने से पहले दोनों तरफ से 50-50 ट्रक पास कराकर चेक किया जाएगा उसके बाद पुल फाइनल कर आवागमन के लिए खोला जाएगा। वहीं पुरानी पुलिया से सवारी वाहनों को पास कराया जा रहा है।