चंदौली जिले के पुलिस थानों के खेल निराले हैं। कहीं सीधे सीधे वसूली तो कहीं अलग तरह से लूटने का खेल चलता रहता है। जिले कंदवा थाने के पुलिस की कारगुजारी व मनमानी वसूली पर शनिवार को ट्रक चालक ने जमकर हंगामा मचाया। ट्रक चालक ने आरोप लगाया कि ओवरलोड बालू के नाम पर 20 हजार जुर्माना लगाया गया लेकिन पुलिसकमियों ने एक हजार रुपये का रसीद थमा दिया।

जब मामले में बवाल मचना शुरू हुआ तो थानाध्यक्ष विनोद यादव ने पहल कर मामले को शांत कराया। फिर बात उच्चाधिकारियों तक गई तो उनके आदेश पर शेष 19 हजार रुपये वापस कराया गया।

बिहार प्रांत के कैमूर जिले के मंसूरपुर निवासी ट्रक चालक राकेश सिंह डेहरी आनसोन से बालू लादकर कंदवा ककरैत मार्ग से होते हुए अमडा जा रहा था। रास्ते में प्राथमिक विद्यालय कंदवा के समीप शनिवार की सुबह डायल 100 पुलिस ने ट्रक को रोक दिया। पुलिस ने ट्रक को रोककर कंदवा थाने को ओवरलोड बालू लोड होने की सूचना दी। एसआई हरेंद्र यादव ने मयफोर्स पहुंचकर ट्रक समेत चालक को थाने ले आए। घंटों बाद चालक से पुलिस ने जुर्माना के रूप में 20 हजार रुपये ले लिया। लेकिन एक हजार रुपये का समन शुल्क की रसीद थमा दी गई।

इसके बाद पर चालक राकेश सिंह 20 हजार रुपये की रसीद देने की जिद पर अड़ गया। पूरे घटनाक्रम की उच्चाधिकारियों को मोबाइल से फोन कर जानकारी दी। मामला बढ़ता देख मामले को रफा दफा करने के लिए पुलिस ने पैसे वापस लौटाने की बात कही।

इसके बाद थानाध्यक्ष विनोद यादव ने शेष 19 हजार रुपये वापस लौटाया, उसके बाद चालक ट्रक लेकर आगे गया।

सीओ सकलडीहा प्रदीप सिंह चंदेल ने पूछे जाने पर बताया शिकायत मिली है। जांच कर दोषी के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाएगी।