पार्टी के कार्यालय में नेतागण

चंदौली जिले में लोकसभा चुनाव की अधिसूचना के बाद सभी दलों में प्रत्याशियों की चयन करने की प्रक्रिया को शुरू होने के कारण इंडियन कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय सचिव आज कांग्रेस कार्यालय पर लोकसभा का टिकट मांगने वाले उम्मीदवारों से वार्ता कर प्रत्याशियों की मजबूती को परखने का कार्य किया और उनका निरीक्षण भी किया गया।

इस दौरान सभी लोकसभा का टिकट मांगने वाले उम्मीदवारों ने अपने अपने तर्क वितर्क राष्ट्रीय सचिव के सामने प्रस्तुत कर टिकट के समीकरण में अपने आप को फिट बैठने और जिताऊ कैंडिडेट होने का भरोसा भी दिलाने की कोशिश की। इस दौरान जिले के कुल 14 उम्मीदवारों ने टिकट मांगने की लंबी लाइन लगा रखी थी।

ये हैं दावेदार

टिकट मांगने वालों में नारायणमूर्ति ओझा, सतीश चंद्र, रेनू यादव ,मधु राय, सियाराम पाठक, विवेक कुमार पांडे उर्फ रण्टू तथा जिलाध्यक्ष देवेंद्र प्रताप सिंह सहित अन्य दावेदार शामिल थे। सभी ने बायोडाटा सचिव को देखकर अपनी उम्मीदवारी जताई। सभी से महासचिव ने वार्ता कर उनके विचारों को कांग्रेस कमेटी के समस्त प्रस्तुत करने का आश्वासन दिया।

चार का पत्ता साफ

इस संबंध में  इंडियन कांग्रेस कमेटी के सचिव सचिन नाईक ने बताया कि कुल 14 कार्यकर्ता द्वारा लोकसभा के टिकट का बायोडाटा प्रस्तुत किया गया है, जिनमें से चार के बायोडाटा निरस्त किए गए हैं और बाकी 10 लोगों के बायोडाटा को कांग्रेस कमेटी की बैठक में भेज कर इन्हें टिकट का दावेदार बताया जाएगा। साथ ही इन्हीं उम्मीदवारों में से किसी एक को प्रत्याशी बनाने के कार्य किया जाएगा।

 उन्होंने यह भी स्पष्ट कर दिया कि जो भाजपा के प्रत्याशी को मात देने व लोगों में जनप्रिय होगा, वही लोकसभा चुनाव का प्रत्याशी घोषित होगा । कांग्रेसी कमेटी द्वारा यह भी ध्यान रखा जाएगा कि इसी क्षेत्र का ही लोकसभा का प्रत्याशी हो।

मौके पर कुछ उम्मीदवारों द्वारा यह भी नाराजगी व्यक्त की गई कि कांग्रेस के जिला अध्यक्ष द्वारा जो पुराने व सक्रिय कार्यकर्ता हैं, उनकी अनदेखी कर कार्य किया जा रहा है।