चंदौली समाचार की खबर का असर: रोकी गई डॉक्टर की तनख्वाह


चन्दौली जिले में चंदौली समाचार की खबर का असर देखने को मिला। लेंस लगाने के नाम पर गरीब मरीजों से पैसा लेने वाले आई सर्जन डॉक्टर कमला प्रसाद पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर भूपेंद्र द्विवेदी द्वारा की गई कार्यवाही में स्पष्टीकरण व जांच पूरी ना होने तक डॉक्टर के वेतन रोकने का निर्देश दिया गया है।


बताते चलें कि पंडित कमलापति त्रिपाठी संयुक्त जिला चिकित्सालय में आंख के सर्जन डॉक्टर कमला प्रसाद द्वारा मरीजों से लेंस लगाने के नाम पर पैसा लेने के मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी भूपेंद्र द्विवेदी द्वारा खबर का संज्ञान लेते हुए तत्काल प्रभाव से डॉक्टर के वेतन रोकने तथा 2 दिन के अंदर स्पष्टीकरण देने का पत्र जारी किया गया ।

जिससे स्वास्थ विभाग में खलबली सी मच गई है अब देखना है कि इस मामले में स्वास्थ्य विभाग पर द्वारा दोषी डॉक्टर के खिलाफ केवल चेतावनी पत्र पर ही कार्यवाही रोक दी जाती है या संबंधित डॉक्टर के खिलाफ सरकार की योजनाओं पर कुठाराघात करने के मामले में किसी प्रकार का दंड भी दिया जाता है।