बैठक करते एसपी चंदौली

चंदौली जिले में लोकसभा चुनाव में संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केंद्रों को चिह्नित करने में फिलहाल देरी की खबरें आ रही हैं। बताया जा रहा है कि इस मामले में पुलिस प्रशासन सुस्त है और इसी वजह से अभी तक इनकी संख्या तय नहीं हो पाई है।

बताया जा रहा है कि पुलिस प्रशासन ने पहले ऐसे केंद्रों को चिह्नित किया था, मगर चुनाव आयोग के नए नियम के अनुसार फिर से चिह्नांकन होना था और 10 अप्रैल तक इसे चिंहित करके जिला निर्वाचन कार्यालय के माध्यम से निर्वाचन आयोग को रिपोर्ट देनी थी। मगर अब तक इस पहल न होने से निर्वाचन अधिकारी बच्चालाल ने एसपी संतोष कुमार सिंह को रिमांडर भेजाकर जल्द से जल्द कार्रवाई को कहा है।

 

आपको बता दें कि जिले में 19 मई को लोकसभा चुनाव के लिए वोट डाले जाएंगे। इसके लिए 1533 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। चुनाव आयोग ने नए मानकों के अनुसार संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्र चिह्नित करने का निर्देश दिया है। जिला प्रशासन ने पुलिस विभाग को ऐसे मतदान केंद्रों को चिह्नित करके रिपोर्ट प्रस्तुत करने की जिम्मेदारी सौंपी थी।

 

मामले में पिछले दिनों बैठक के दौरान जिला निर्वाचन अधिकारी/डीएम नवनीत सिंह चहल ने रिपोर्ट नहीं मिलने पर सभी थानाध्यक्षों से नाराजगी जताई थी और निर्देश दिया था कि दस अप्रैल तक थानावार मतदान केंद्रों को चिह्नित करके रिपोर्ट प्रस्तुत करें। लेकिन अभी तक पुलिस रिपोर्ट नहीं भेज पाई है।

उप निर्वाचन अधिकारी बच्चालाल बोले 

संवेदनशील और अति संवेदनशील मतदान केंद्रों को चिह्नित करने के लिए पुलिस विभाग को जिम्मेदारी दी गई थी। लेकिन पुलिस की ओर से कोई रिपोर्ट अब तक नहीं मिली है। रिपोर्ट नहीं भेजने पर उनके खिलाफ आयोग को पत्र भेजा जाएगा।