चन्दौली जिले के नौगढ़ तहसील क्षेत्र के मझगांवा में कृष्णानंद पुत्र राममुरत 23 वर्ष की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद गांव में सनसनी फैल गई।और लोगो मे भय भी व्याप्त है।

जिसके वजह से गांव को हॉटस्पॉट बनाया गया है। जिसमें सीडीओ, डीपीआरओ, बीडीओ सुदामा यादव, स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अवधेश पटेल, एडीओ पंचायत, थाना इंचार्ज रमेश प्रसाद, चौकी इंचार्ज भैरव नाथ यादव, ग्राम प्रधान विमलेश, बीडीसी ईश्वर प्रसाद त्यागी लोग शामिल होकर गांव में राशन, मेडिकल इत्यादि आवश्यक सामग्री की आपूर्ति के लिए लोगों को चयन किया गया । स्वास्थ्य विभाग की टीम मरीज को वाराणसी के लिए भेज दिया गया

इस संबंध में बताया जाता है कि कृष्णा नंद महाराष्ट्र से 14 तारीख की रात्रि में आया था ।वह अपने घर पर रात्रि में रुका था ।

उसके बाद वह नौगढ़ राजकीय महाविद्यालय में अपना थर्मल स्कैन करवा करवाया तो डॉक्टरों के द्वारा बताया गया कि आप क्वॉरेंटाइन रहेंगे तो 3 दिन तक वह राजकीय महाविद्यालय में रहा उसके बाद उसे होम क्वॉरेंटाइन किया गया तो वह गांव के विद्यालय में आकर रहने लगा । उसी बीच 25 तारीख को उसका सैंपल जांच के लिए भेजा गया तो उसकी जांच रिपोर्ट आज पॉजिटिव निकली है।

वही जब मौके पर स्वास्थ्य विभाग व विकास विभाग तथा पुलिस विभाग की टीम जब पहुंचा तो मौके पर उससे पूछा गया तो पता चला कि वह विद्यालय से 31 तारीख को अपने घर चला गया था तो वह घर जाने के बाद घूमना फिरना पूरे गांव में करने लगा। जिसकी निगरानी के लिए जिन टीमों का चयन किया गया था वह भी लोग ध्यान नहीं दे रहे थे ,कि इसे घर के अंदर रहना है तो वह मनमाने तरीके से पूरे गांव में 3 दिन तक घूमता रहा इसी बीच यह भी मालूम हुआ कि वह बाहर जाकर बाल भी अपना कटवाया था।

लेकिन कोई भी निगरानी समिति उसे मना नहीं कर रही थी। तो इसी तरह से वाह अपने परिवार में स्थित माता पिता दो भाई दो बहन एक भाभी से भी अटैच में रहा है ।
तो इसकी जानकारी प्राप्त करते हुए पूरे गांव में पांच जगहों पर बैरियर लगाकर बस्ती को सील कर किया गया।