पुलवामा शहीद अवधेश यादव की मां ने दुनिया को कहा अलविदा, कैंसर का चल रहा था इलाज

चंदौली जिले के पड़ाव इलाके का रहने वाला जवान 14 फरवरी 2019 को पुलवामा में आंतकी हमले में शहीद हो गया था। पर बेटे अवधेश यादव की राह उसकी मां आज भी देख रही थी। अंत में देखते देखते मां मालती देवी (61) ने गुरुवार को दुनिया छोड़ दी। वीर बेटे की माता के निधन की खबर मिलते ही बहादुरपुर स्थित उनके आवास पर शुभचितकों का तांता लग गया। दोपहर में शव यात्रा निकाली गयी।

इस दौरान सीआरपीएफ दुलहीपुर के जवानों ने कंधा दिया। गांव के ही शक्ति घाट पर शव का अंतिम संस्कार किया गया। मुखाग्नि पति हरिकेश यादव ने दी।

बताया जा रहा है कि जवान की मां मालती पिछले आठ वर्षों से कैंसर से पीड़ित थीं। उधर जनप्रतिनिधियों व प्रशासनिक अधिकारियों के नहीं पहुंचने से लोगों में आक्रोश दिखा।

कहा जा रहा है कि कैंसर से पीड़ित मालती देवी की तबीयत खराब होने पर हेरिटेज में भर्ती कराया गया था। सुबह उन्होंने छह बजे अंतिम सांस ली। बेटे के बाद पत्नी का भी साथ छूटने से पति हरिकेश यादव के ऊपर गमों को पहाड़ टूट गया। वे अपने आप को संभाल नहीं पा रहे थे।

लोग उनका हौसला बढ़ा रहे थे, लेकिन गम में टूट चुके हरिकेश अपने आंसुओं को रोक नहीं पा रहे थे। बड़ी बेटी नीलम यादव व छोटी पूनम यादव और बेटे बृजेश मां के निधन से बिलख पड़े।

बेटे की थी बरसी, मां अस्पताल में भर्ती

गत 14 फरवरी पर जब लोग उनके बेटे की शहादत मना रहे थे। तब लोग घर पहुंच शहीद को पुष्पांजलि अर्पित कर परिजनों को सांत्वना व ढांढस बंधा रहे थे। उस दिन भी मां मालती की तबीयत बिगड़ गई थी। परिजनों ने पीडीडीयू नगर स्थित एक निजी अस्पताल में इलाज कराया था। शहीद की मां के निधन की खबर पर उनके आवास पर बड़ी संख्या में लोग एकत्रित हो गए थे ।