अपनी रेल यात्रा का लिखिए अनुभव जीतिए हजारों के इनाम, इन बातों का रखना होगा ध्यान

हिंदी का प्रयोग बढ़ाने के लिए अखिल भारतीय स्तर पर रेलवे बोर्ड रेल यात्रा वृतांत प्रतियोगिता आयोजित करने जा रहा है। इस प्रतियोगिता की खासियत यह होगी कि आम नागरिकों को भी अपना कौशल दिखाने का मौका मिलेगा। इसमें रेल कर्मचारी भी प्रतिभाग कर सकेंगे।

आपका यात्रा वृतांत तीन हजार शब्दों में टाइप होना चाहिए। अपनी बात डबल स्पेश में टाइप करनी होगी और चारों तरफ एक एक इंच का हिस्सा छोड़ना होगा। इसके बाद प्रतिभागी डाक के माध्यम से 30 जून तक अपना लेख नई दिल्ली, रायसीना रोड, रेल मंत्रालय, कमरा नंबर 536-बी सहायक निदेशक हिदी (प्रशिक्षण) को भेजेंगे। इसके बाद चुने हुए विजेताओं को नकद पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा।

प्रतियोगिता के माध्यम से रेल कर्मियों सहित जन सामान्य लोगों से रेल यात्रा संबंधी अनुभव प्राप्त किया जा रहा है। उन अनुभवों के आधार पर रेलवे की सुविधाओं को और बेहतर बनाने और उनमें हिंदी का प्रयोग बढ़ाया जाएगा।

बताया जा रहा है कि लेखन हिंदी भाषा में हो और कम से कम तीन हजार शब्द हों। शुरू में बड़े अक्षरों में नाम, पदनाम, आयु, कार्यालय अथवा निवास का पता, मातृभाषा, मोबाइल नंबर, ई मेल और वृतांत के शब्दों की संख्या आदि लिखनी होगी। आपका रेल यात्रा वृतांत मौलिक हो और केंद्र या राज्य सरकार की किसी योजना के अधीन पुरस्कृत न हो, इसकी जानकारी का प्रमाण पत्र भी प्रतियोगियों को देना होगा।

प्रथम विजेता को मिलेंगे दस हजार

प्रतियोगिता में प्रथम विजेता को दस हजार, द्वितीय को आठ हजार, तृतीय को छह हजार रुपये नकद व प्रशास्ति पत्र मिलेगा। इसके अलावा पांच प्रेरणा पुरस्कार के रूप में चार चार हजार रुपये और प्रशस्ति पत्र भी दिया जाएगा।

पूर्व मध्य रेल हाजीपुर जोन के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि यात्रियों के अनुभवों को साझा करने के लिए प्रतियोगिता आयोजित की गई है। यात्रियों के विचारों से रेलवे में और बेहतर करने का सुझाव मिलेगा।