चंदौली जिले में स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन की लापरवाही से दम तोड़ चुके महेश चौहान को न्याय दिलाने के लिए लोग जुड़ने लगे हैं और आने वाले दिनों में यह मुद्दा और भी तूल पकड़ेगा।

शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जीटी रोड स्थित कार्यालय के समीप विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने तख्तियों पर लिखे महेश हम शर्मिंदा हैं, कातिल अभी जिंदा हैं। महेश चौहान को न्याय चाहिए आदि स्लोगन लिखकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की। साथ ही पूरे प्रकरण की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई और मुआवजा देने की मांग की।

सपा नेता बाबूलाल यादव ने कहा कि नगर पालिका क्षेत्र के वार्ड एक मैनाताली निवासी महेश चौहान की पिछले दिनों प्रशासनिक लापरवाही के कारण मौत हो गई थी। जबकि महेश ने खुद कोविड-19 की जांच के लिए फार्म भरा था। सूची में नाम गलत दर्ज होने के कारण महेश का इलाज नहीं हो सका और उसकी सांसें थम गईं।

सपा नेता बाबूलाल यादव ने कहा कि परिजनों के समक्ष जीविकोपार्जन की समस्या खड़ी हो गई है। कहा कि प्रशासनिक लापरवाही के कारण महेश चौहान की मौत हुई है। जिसकी जांच कर दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए। साथ ही परिवार के एक सदस्य को नौकरी के साथ उचित मुआवजा देना चाहिए। चेताया कि पीड़ित परिवार को न्याय नहीं मिला तो कार्यकर्ता सड़क पर उतरने को बाध्य होंगे।

इस दौरान अध्यक्ष जलालुद्दीन, नायाब अहमद, सुदामा यादव, पारस यादव, अशोक सभासद, सिकंदर पासवान, राजकुमार जायसवाल, सुशील सिंह, यासीन, तेजबली आदि शामिल थे।